Home > Election > खंडवा : लोकतंत्र के महापर्व में आहुति डालने घोड़े पर सवार होकर पहुचे ये बुजुर्ग

खंडवा : लोकतंत्र के महापर्व में आहुति डालने घोड़े पर सवार होकर पहुचे ये बुजुर्ग

खंडवा : लोकतंत्र के महापर्व में अपनी आहुति डालने लोग मतदान केंद्रों पर पहुंचने लगे हैं।

इन मतदान केंद्रों का नजारा अलग ही है कोई अपनी नौकरी से छुट्टी लेकर यहां पहुंचा है तो कोई घोड़े पर सवार होकर इस महापर्व में अपनी हिस्सेदारी जता रहा है, तो वहीं अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी भी अपने मताधिकार का प्रयोग करने सुदूर इस अंचल में पहुंच रहे हैं।

इतना ही नहीं जहां महिलाएं और बुजुर्ग अपने मताधिकार का प्रयोग करने में आगे नजर आ रहे हैं।

यहां सभी के मन में एक ही बात है कि लोकतंत्र को मजबूत कर देश को विकास की राह पर आगे बढ़ाना है।

सभी कि अपने विचार हैं अपनी मांगे हैं हर व्यक्ति इस महापर्व को अपने ही नजरिए से देख रहा है।

आइए आपको मिलाते हैं सोल खेड़ी के इन बुजुर्ग से जो घोड़ी पर सवार होकर अपने मताधिकार का प्रयोग करने पहुंचे हैं। ये बुजुर्ग अंतर्राष्ट्रीय पहलवान कृपा शंकर पटेल के पिता चेतराम पटेल है।

80 साल की बुजुर्ग महिला भी लकड़ी के सहारे चल कर मतदान केंद्र पर पहुंची है बेबी चाहती हैं कि उनके एक वोट से लोकतंत्र को मजबूती मिले।

अंतर्राष्ट्रीय पहलवान रोहित पटेल भी आज अपने गांव में पहुंचे हैं उनका कहना है कि वह अपने हर व्यक्ति को अपने मताधिकार का प्रयोग करना चाहिए।

हालाकि सरकारों से थोड़े से नाराज नजर आ रहे हैं। इनका कहना है कि सरकारों ने खासकर मध्य प्रदेश की सरकार ने खिलाड़ियों के लिए ज्यादा कुछ नहीं किया है। साथ ही किसानों के लिए भी सरकारों को कुछ इस तरह का करना चाहिए किसान किसी भी हाल में परेशान ना हो।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com