PM मोदी से सवाल पूछेंगी खंडवा की पलक !

खण्डवा : 20 जनवरी को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम में स्टूडेंड्स से चर्चा करेंगे। प्रधानमंत्री इस कार्यक्रम के लिए खंडवा की एक छात्रा पलक आहूजा का चयन किया गया है।

खंडवा की सोफिया कन्वेंट स्कूल में पढ़ने वाली नवी कक्षा की पलक आहूजा को मानव संसाधन विकास मंत्रालय से बुलावा आया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस कार्यक्रम में बुलावा आने से न केवल यह छात्रा बल्कि उसकी स्कूल और पेरेंट्स भी काफी खुश हैं।

पलक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एजुकेशन सिस्टम को लेकर सवाल करने वाली हैं। पलक का पीएम मोदी से सवाल करेंगी कि स्कूलों में जर्नल प्रमोशन को क्यों नहीं रोका जा रहा।

खंडवा की सोफिया कान्वेंट स्कूल में पढ़ने वाली नवी कक्षा की छात्रा पलक आहूजा का परिवार और स्कुल बेहद खुश है। उनकी बेटी 20 जनवरी को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुखातिब होंगी।

प्रधानमंत्री मोदी बच्चों से परीक्षा पर चर्चा करेंगे।मोदी के इस कार्यक्रम में सहभागिता पाने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय से पलक को सर्टिफिकेट आफ पार्टिसिपेशन का पत्र भी आया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए स्कूल की तरफ से उसे मौका मिला था। पलक ने अपने रूचि के अनुसार कृतज्ञता की महानता विषय पर लेख लिखा था। इसी आधार पर उसे मोदी से मिलने का मौका मिला है। पलक खुश है और पीएम मोदी से प्रश्न पूछ्ने के लिए तैयार है। पलक प्रधानमंत्री से स्कूल में मिलने वाले जर्नल प्रमोशन पर सवाल करेंगी।

पलक का मानना हैं की स्कूलों में मिलने वाला जर्नल प्रमोशन बंद होना चाहिए इस से छात्रों का बेस कमजोर होता हैं। और आगे बड़ी कक्षाओं में फेल होने पर वे घातक कदम उठाते हैं।

पलक के इस प्रयास पर न केवल उसके परिजन बल्कि स्कूल का पूरा स्टाफ गर्व महसूस कर रहा है।

परिजनों का कहना है कि यह न केवल उनके परिवार बल्कि खंडवा के लिए गर्व की बात है ।स्कूल प्रिंसिपल का कहना है कि आसपास के 4 जिलों में से सिर्फ उन्हीं की स्कूल से पलक आहूजा का चयन हुआ है यह ना केवल पलक के लिए बल्कि पूरे स्कूल परिवार के लिए गर्व की बात है।

स्कूल प्रिंसिपल ने कहा है कि पलक बहुत होशियार बच्ची है। उन्होंने कहा लड़कियां हो तो पलक जैसी हो जिन्हें सब पर नाज हो।स्कूल प्रिंसिपल का मानना भी यही हैं कि पलक ने सही मुद्दा उठाया हैं। स्कूलों में मिलने वाले जर्नल प्रमोशन को बंद किया जाना चाहिए।

इधर पलक के परिजन भी पलक के चयन से खुश हैं। पलक के परिजन उसकी इस कामयाबी का श्रय स्कूल को देते हैं उनका मानना हैं कि स्कूल प्रबंधन ने सही शिक्षा का नमूना पेश कर उसे इस तरह तैयर किया हैं की पलक आज प्रधानमंत्री के सामने सवाल कर सकती हैं।