खंडवा : परियोजना प्रशासक आदिम जाति विकास कार्यालय खंडवा में पदस्थ महिलाकर्मी ने अपने कार्यालय में पदस्थ एक बाबू के खिलाफ थाना छीपाबड़ में मारपीट, गाली गलौज, जान से मारने की धमकी व दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज कराया है। महिला अपने वकील के साथ शनिवार शाम को छीपाबड़ थाने पहुंची थी। आरोपी पर प्रकरण दर्ज होने के बाद से फरार है। मामला खंडवा का होने से छीपाबड़ पुलिस ने शून्य पर प्रकरण दर्ज कर डायरी खंडवा एसपी आफिस भेज दी है।जिले की आदिवासी विकास विभाग की महिला संविदा कर्मी है। वही आरोपी युववराज आदिवासी विकास परियोजना के दो विभाग के है प्रभारी कर्मी (लिपिक) है।।

छीपाबड पुलिस के अनुसार आरोपी ने खुद के ही कार्यालय की संविदाकर्मी महिला को अपनी हवस का शिकार बनाया। पीडिता की शिकायत पर जीरो पर प्रकरण दर्ज कर उत्तरोत्तर कार्रवाही के लिये केस डायरी , खण्डवा कोतवाली पुलिस को सोपी गयी हे। छीपाबड़ थाना प्रभारी राकेश गौर ने बताया खंडवा के जगदंबापुरम (माता चैक) निवासी एक 36 वर्षीय विधवा महिला के साथ उसी के दफ्तर के बाबू युवराज सिंह सोलंकी ने बीते साल 1 अक्टूबर को दुष्कर्म किया।

उसने पूर्व में भी कई बार महिला के साथ दफ्तर में ही अश्लील हरकत करते हुए यौन शोषण भी किया। इसकी शिकायत दफ्तर में करने पर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। इससे सोलंकी के हौसले और बढ़ते गए। इसके बाद आरोपी ने महिला के घर पर जाकर चाकू की नोंक पर कई बार मारपीट करते हुए दुष्कर्म किया। विरोध करने पर जान से मारने और नौकरी से निकलवाने की धमकी देता रहा। पीडित महिला के पति की कुछ माह पूर्व मौत होने के बाद से वह अपनी दो बेटियों के साथ खंडवा में ही रहती है।

पडौसी जिला हरदा के छीपाबड थाना प्रभारी श्री गौर ने बताया महिला का मायका खिरकिया में है। शनिवार को महिला अपने वकील के साथ थाने पहुंची। महिला की शिकायत पर विभाग कर्मी व आरोपी युवराज सिंह सोलंकी के विरूद्ध धारा 376 (2) एन, 294, 323, 506 के तहत प्रकरण दर्ज किया है। आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। उन्होंने बताया घटनास्थल खंडवा जिले का होने से केस डायरी खंडवा पुलिस को भेजी हैं।

पहले पुलिस ने नहीं की महिला की सुनवाई – पीडित महिला ने पुलिस को दिए बयान में बताया द्वारा दुष्कर्म मामले की शिकायत खंडवा के कोतवाली में भी की गई थी, लेकिन वहां सुनवाई नहीं हुई। पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। आरोपी दबंग होने के चलते अब छीपाबड़ आकर महिला ने मामले की शिकायत की। जिस पर प्रकरण दर्ज हो सका।

कोतवाली में दर्ज हुई असल कायमी –रविवार शाम थाना छीपाबड़ से कोतवाली खंडवा में केस डायरी पहुंच गई है। जिसमें महिला के बयान व शून्य पर दर्ज कायमी के आधार पर असल कायमी कोतवाली पुलिस ने दर्ज की है। महिला ने बयान में ऐसा कहीं भी नहीं लिखाया कि कोतवाली खंडवा पुलिस को पूर्व में शिकायत की है। थाना निरिक्षक ने आगे बताया कि हमारे पास महिला एक बार भी नहीं आई। उसने केस डायरी में भी खंडवा कोतवाली का जिक्र नहीं किया है। आरोपी युवराज सोलंकी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। आरोपी को जल्द गिरफ्तार करेंगे।
बीएल मंडलोई – थाना प्रभारी कोतवाली खंडवा।