Home > Crime > प्रद्युम्न हत्‍या: बस कंडक्‍टर बोला मै बेगुनाह, असली कातिल कौन !

प्रद्युम्न हत्‍या: बस कंडक्‍टर बोला मै बेगुनाह, असली कातिल कौन !

नई दिल्‍ली : गुरुग्राम के भोंडसी स्थित रायन इंटरनेशनल स्‍कूल में हुई प्रद्युम्न की हत्‍या में अब नया मोड़ सामने आ गया है. मामले में आरोपी बस कंडक्‍टर अशोक की पत्‍नी ममता ने मीडिया के सामने दावा किया कि उसका पति बेगुनाह है और उसे फंसाया जा रहा है ।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अशोक की पत्‍नी ने दावा कहा कि मैं अपने पति से जेल में मिलने गई थी. इस दौरान वह रो रहे थे और उन्‍होंने कहा कि मैं बेगुनाह हूं । ममता ने मीडिया से बात करते हुए कहा ‘मैंने उनसे कहा कि आप वो कहिए जो सच है. इस पर उन्‍होंने कहा कि अब मैं कोर्ट में जो भी सच है वही बोलूंगा ।

पत्‍नी ममता ने दावा किया कि पुलिस ने उनके साथ मारपीट की जिससे वह दवाब में आ गए और दवाब में हत्‍या करने की कही.’ ममता ने कहा मैंने पति से पूछा कि उन्‍हें क्‍यों फंसाया जा रहा है । इस पर उन्‍होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि मुझे क्‍यों फंसाया जा रहा है ।

बाद में मीडिया से बात करते हुए आरोपी कंडक्‍टर की पत्‍नी ने कहा कि उसे भी लगता है कि उनके पति को फंसाया गया है । अब वे लोग कोर्ट के सामने अपनी बात को पुख्‍ता तरीके से रखेंगे ।

ममता ने बताया कि जेल में मिलने के दौरान उसने अशोक से बताया कि हमने अदालत में अपना पक्ष रखने के लिए वकील कर लिया है, जो कि हमारे पक्ष को मजबूती के साथ रखेगा. ममता ने कहा कि उसके पति काफी डरे हुए थे ।

उसने बताया कि उन्‍होंने इस दौरान परिवार का हालचाल भी जाना. मैंने उन्‍हें हिम्‍मत बधायी की आपके साथ पूरा गांव है. आप बिल्‍कुल भी चिंता मत कीजिए. आपको बात दें कि 8 सितंबर को गुरुग्राम के भोंडसी में स्थित रायन इंटरनेशनल स्‍कूल में 7 साल के प्रद्युम्न हत्‍या का मामला सामने आया था.

इसके बाद हत्‍या के आरोप में बस कंडक्‍टर अशोक को हिरासत में लिया गया था. आरोपी अशोक ने मीडिया के सामने कुबूल किया था कि उसने ही प्रद्युम्न की हत्‍या की है । हालांकि अलग-अलग मीडिया रिपोर्ट में यह सवाल उठाए जा रहे हैं कि इस मामले में कोई अन्‍य भी शमिल भी हो सकता है. हत्‍या के मामले में लोगों का गुस्‍सा देखते हुए रायन स्‍कूल प्रबंधन ने प्रिंसिपल को भी निलंबित कर दिया था ।

करंट के झटके देकर जबर्दस्ती बयान दर्ज करवाया

आरोपी कंडक्टर अशोक अपने बयान से मुकर गया है। आरोपी के वकील के अनुसार पुलिस ने अशोक को मारपीट और करंट के झटके देकर जबर्दस्ती बयान दर्ज करवाया था। इस मामले में आए इस नाटकीय मोड़ के बाद आखिर प्रद्युम्न के माता-पिता की आशंका सच साबित हुई कि अशोक को फर्जी आरोपी बनाया गया है।

उल्लेखनीय है कि इस बारे में आरोपी अशोक के वकील मोहित ने बताया कि कल जब अशोक से मिला था तो उसने ज़ोर-ज़ोर से रोते हुए बताया कि मेरे ऊपर ये आरोप थोपा गया है।अशोक ने कहा मैंने टीचर के कहने पर प्रदुम्न को उठाया था। अशोक ने वकील को कहा कि हत्या से उसका कोई लेना देना नहीं है। बता दें कि इसके पहले अशोक ने कहा था, कि मेरी बुद्धि भ्रष्ट हो गई थी। मैं अपनी हर सज़ा भुगतने के लिए तैयार हूँ।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com