बेंगलुरु में कमलनाथ के मंत्री जीतू पटवारी और लाखन सिंह के साथ पुलिस की हाथापाई

भोपाल : मध्य प्रदेश की राजनीतिक परिस्थिति पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है की कांग्रेस के विधायकों को भारतीय जनता पार्टी ने कर्नाटक पुलिस के द्वारा बंधक बनाया हुआ है। हमारे मंत्रियों जीतू पटवारी और लाखन सिंह के साथ बदतमीजी की जा रही है।

बेंगलुरु में जीतू पटवारी जी से हुए धक्का-मुक्की के लिए हम कर्नाटक पुलिस एवं बीजेपी को जिम्मेदार मानते हैं जीतू पटवारी इंदौर एवं मध्य प्रदेश के बेटे हैं और मध्य प्रदेश के बेटे का अपमान सहन नहीं किया।


मध्य प्रदेश में जारी सियासी संकट के बीच कांग्रेस नेता जीतू पटवारी बेंगलुरू के एक होटल में ठहरे बागी विधायकों से मिलने पहुंचे थे। उनके साथ कांग्रेस नेता लाखन सिंह भी मौजूद थे। इस दौरान वहां सुरक्षा में लगे बेंगलुरू पुलिस के जवान ने उन्हें रोकने का प्रयास किया। जिसके चलते दोनों के बीच हाथापाई हो गई। इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें जीतू पटवारी पुलिसकर्मी से उलझते नजर आ रहे हैं। कांग्रेस का कहना है कि दोनों नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है।

वहीं मध्य प्रदेश कांग्रेस ने अपनी पार्टी के नेता का बेंगलुरू पुलिस द्वारा उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस नेता विवेक तन्खा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाया कि “उनकी सरकार के दो मंत्री जीतू पटवारी और लाखन सिंह बेंगलुरू गए थे। इस दौरान उनका उत्पीड़न किया गया। हमारे पास जानकारी है कि हमारे मंत्रियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। यदि पुलिस इस पर कार्रवाई नहीं करती है और हमारे मंत्रियों को नहीं छोड़ती है तो हम कोर्ट जाएंगे।

मध्य प्रदेश कांग्रेस हमारे दो मंत्री जीतू पटवारी और लाखन सिंह बेंगलुरु गए थे। उनके साथ मारपीट की गई, हमारे पास जानकारी है कि हमारे मंत्रियों को गिरफ्तार किया गया है। यदि पुलिस कार्रवाई नहीं करती है और हमारे मंत्रियों और विधायकों को रिहा नहीं करती है, तो हमें इसे अदालत में ले जाएंगे।