Home > India News > पति ने 71 भेड़ लेकर प्रेमी से किया पत्नी का सौदा, पंचायत का अजीबोगरीब फैसला

पति ने 71 भेड़ लेकर प्रेमी से किया पत्नी का सौदा, पंचायत का अजीबोगरीब फैसला

यूपी के गोरखपुर के पिपराइच से एक मामला सामने आया है, जिसमें एक पंचायत ने महिला की कीमत ’71 भेड़’ लगा दी। मामला प्रेम प्रसंग का था।

चौंकाने वाली बात ये रही कि पंचायत के इस फैसले पर दोनों पक्ष राजी भी हो गए। लेकिन बवाल तब मचा, जब प्रेमी के पिता ने अपनी भेड़ें वापस मांग ली।

दरअसल 22 जुलाई को पिपराइच क्षेत्र का एक युवक अपने ही गांव के एक व्यक्ति की पत्नी को लेकर भाग गया। मामला पुलिस तक पहुंचा तो पिपराइच थाने में महिला ने प्रेमी का हाथ थामा और उसके साथ चली गई।

पिछले हफ्ते प्रेमी और महिला का पति बेलीपार क्षेत्र के एक गांव में भेड़ चराते हुए आमने-सामने आए तो उनमें विवाद हो गया। इस दौरान महिला भी वहां मौजूद थी।

विवाद बढ़ने पर बिरादरी की पंचायत बैठी। पंचों ने प्रेमी से पूछा कि उसे भेड़ चाहिए या महिला। प्रेमी ने महिला को साथ रखने की बात कही।

इसके बाद पंचायत ने प्रेमी के पास कुल 142 भेड़ों में से आधी भेड़ महिला के पति को देने का फरमान सुना दिया और महिला को प्रेमी के साथ जाने की अनुमति दे दी। पंचायत के इस अजीबोगरीब फैसले के बाद दोनों पक्ष लौट गए।

लेकिन शुक्रवार को प्रेमी के पिता ने खोराबार थाने में तहरीर दी कि उसे अपनी भेड़ वापस चाहिए, भेड़ लौटाकर व्यक्ति अपनी पत्नी वापस ले जाए।

शिकायत पर पुलिस भी चकरा गई। प्रेमी के पिता के अनुसार बेटा किसे अपने साथ रखता है? किसे नहीं रखता है? यह उसका फैसला है। पर मुझे मेरी भेड़ें चाहिए। उसने आरोप लगाया कि महिला के पति ने मेरी भेड़ चुरा ली हैं।

वहीं महिला के पति ने कहा कि हमने किसी की भेड़ें नहीं चोरी की है। मेरी पत्नी को उसने अपने पास रख लिया है। उसके बदले यह भेड़ें दी है। यही समझौता हुआ था।

उधर महिला का कहना है कि वह अपने पति के पास नहीं जाएगी, प्रेमी के साथ ही रहेगी। प्रेमी भी इसी बात से राजी है।

वहीं मामले में खोराबार थाने के एसओ अंबिका भारद्वाज और पिपराइच थाने के एसओ सुधीर सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि पीड़ित पक्ष से संपर्क किया गया है।

उनका कहना है कि अपने समाज के लोगों के साथ ही मिलकर इसे सुलझा लिया जाएगा। पुलिस पूरे घटनाक्रम पर नजर रखे हुए है।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com