Home > State > Bihar > बिहार चुनाव: भाजपा को ले डूबे मोहन भागवत

बिहार चुनाव: भाजपा को ले डूबे मोहन भागवत

  mohan bhagwat

पटना- बिहार विधानसभा की कुल 243 सीटों पर मतगणना चालू है। रुझान में महागठबंधन को जीत मिलती देख राजद और जदयू के कार्यालय में जश्न का माहौल है। कार्यकत्र्ताओं ने ढ़ोल-नगाड़ों के साथ जश्र का इजहार कर रहे हैं। अभी तक के आए रुझान में महागठबंधन को पूरी तरह से बहुमत मिल गई है। महागठबंधन 145 सीटों पर आगे चल रही है, जबकि एनडीए 89 सीटों पर ही सिमटती दिख रही है। 

इस चुनाव में एनडीए को हार का सबसे बड़ा कारण संघ प्रमुख मोहन भागवत का आरक्षण पर दिया गया बयान माना जा रहा है। मतगणना के बाद अधिकांश एग्जिट पोल में सामने आया था कि बिहार में आरक्षण पर संघ प्रमुख की बयानवाजी एक बड़ा मुद्दा बनी है और इसका नुकसान बीजेपी को उठाना पड़ सकता है, और हुआ भी ऐसा।

क्या कहा मोहन भागवत ने-
आरक्षण पर राजनीति और उसके दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने सुझाव दिया है कि एक समिति बनाई जानी चाहिए जो यह तय करे कि कितने लोगों को, कितने दिनों तक आरक्षण की आवश्यकता होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसी समिति में राजनीतिकों से ज्यादा च्सेवाभावियोंज् का महत्व होना चाहिए।

भागवत ने अपने संगठन के मुखपत्रों ‘पांचजन्य’ और ‘ऑर्गेनाइजर’ में दिए साक्षात्कार में यह सुझाव दिया है। उन्होंने कहा, ‘संविधान में सामाजिक रूप से पिछड़े वर्ग पर आधारित आरक्षण नीति की बात है, तो वह वैसी हो जैसी संविधानकारों के मन में थी। वैसा उसको चलाते तो आज ये सारे प्रश्न खड़े नहीं होते। उसका राजनीति के रूप में उपयोग किया गया है। हमारा कहना है कि एक समिति बना दो, जो राजनीति के प्रतिनिधियों को भी साथ ले, लेकिन इसमें चले उसकी जो सेवाभावी हों। उनको तय करने दें कि कितने लोगों के लिए आरक्षण आवश्यक है और कितने दिनों तक उसकी आवश्यकता पड़ेगी।

लालू ने साधा पीएम मोदी पर निशाना-
संघ के बयान पर आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद ने ट्विटर पर इस ओर पलटवार किया। लालू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा निशाना साधते हुए कहा कि अगर किसी में हिम्मत है तो वह आरक्षण खत्म करके दिखाए। बिहार चुनाव में जेडीयू और कांग्रेस के साथ महागठबंधन कर लड़ाई लड़ रहे लालू प्रसाद ने कहा, ‘आरएसएस, बीजेपी आरक्षण खत्म करने का कितना भी सुनियोजित माहौल बना ले। देश का 80 फीसदी दलित, पिछड़ा इनका मुंहतोड़ करारा जवाब देगा।’ लालू यहीं नहीं रुके. उन्होंने आगे कहा कि अगर किसी ने मां का दूध पिया है तो वह आरक्षण खत्म करके दिखाए। आरजेडी प्रमुख ने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए सवाल किया कि क्या हाल ही पिछड़ा बने मोदी अपने आका मोहन भागवत के कहने से आरक्षण खत्म करेंगे?

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com