Home > Crime > धार: अंधे क़त्ल के आरोपी कैसे चढ़े पुलिस के हत्थे ?

धार: अंधे क़त्ल के आरोपी कैसे चढ़े पुलिस के हत्थे ?

DEMO- PIC

धार- मध्य प्रदेश धार के दीनदयालपुरम कॉलोनी मांडव लिंक रोड पर हुए अंधे क़त्ल का धार पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया और चार आरोपियों को गिरफ्तार किया। कच्ची उम्र के चार लड़को ने लूट के इरादे से की थी ह्त्या। यह आरोपी शातिर अपराधी अय्याशी करने के लिए लूट और डकैती करते थे और पहचाने जाने पर इन्होंने कर दी एक बेकसूर की ह्त्या को अंजाम दिया। जिला पुलिस अधीक्षक ने पत्रकारवार्ता में इस हत्याकांड का खुलासा किया।

उन्होंने बताया कि १२ फरवरी को अलसुबह धार के दीनदयालपुरम कॉलोनी के उस वक्त सनसनी फ़ैल गई थी। जब कॉलोनी के मांडू लिंक रोड पर सेन्ट जॉर्ज स्कूल के पास लाश पड़ी हुई है। तत्काल पुलिस को सुचना दी गई। थाना कोतवाली पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची और देखा की अर्धनग्न अवस्था में 30 वर्ष का युवक मरा पड़ा हुआ है । पहली नज़र में ही पुलिस को मामला ह्त्या का नज़र आ रहा था। लिहाजा पुलिस ने बारीकी से स्थान पर जांच शुरू कर दी । और हर पहलु की जांच पड़ताल की परंतु पुलिस को मौकाए वारदात से कुछ भी हाथ नहीं लगा। जिससे पुलिस अपराधियो तक पहुँच सके ।

पुलिस ने देखा की युवक के शरीर पर मारपीट के निशाँ है और मृतक की पीठ पर लोहे की चैन से मारने के निशान साफ़ साफ़ दिखाई दे रहे थे। जिससे पुलिस को शंका हुई कि युवक के साथ मारपीट की गई है । लिहाजा पुलिस को यह स्पष्ठ हो गया था कि मारपीट का मामला है। जघन्य हत्याकांड था।

लिहाजा पुलिस अधीक्षक ने मौका मुआयना किया और तत्काल टीम का गठन किया और फिर पुलिस ने जांच शुरू की। पुलिस के लिए पहली पहेली तो यह थी कि युवक अज्ञात है। उसकी शिनाख्त के लिए फोटो जारी किये गए और युवक की शिनाख्त उसके भाई ने आकर की और पता चला कि युवक का नाम राजू है और वह मोहनपुर गड़ी का रहने वाला है ।

उन्होंने बताया कि इस हत्याकांड के पहले थाना तिरला और नोगांव के अन्तर्गत अलग अलग स्थानों पर लूट और डकैती जैसी घटनाओ के कारण पुलिस महकमा लगा हुआ था। पुलिस ने लगातार छापेमार कार्यवाही की परंतु पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा । कहते है कि अपराधी कितना भी शातिर क्यों ना हो वह कुछ ना कुछ गलती जरूर करता है और यह अपराधी तो आदतन अपराधी बन चुके थे और अय्याशी के लूट और डकैती जैसी घटनाओ को अंजाम देना इनके लिए मामूली बात हो चुकी थी। लिहाजा इन्होंने धार के गंजीखाना पर एक महिला और उसकी नाबालिग लड़की के साथ छेड़खानी की और रूपये मांगे जिसकी शिकायत थाना कोतवाली में दर्ज हुई जिसके बाद पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया। जिसके बाद जो खुलासे हुए वह चौकाने वाले रहे । पुलिस तो यह सोच रही थी कि यह बहुत छोटा है परंतु जब सख्ती से पूछताछ की गई तो एक अपराधी ने सब कुछ उगल दिया । और बताया कि उसके तीन साथी और है जो धार में ही और कई जगह लूट और डकैती चोरी डराना धमकाना , छेड़खानी जैसी घटनाओ को अलग अलग थाना अन्तर्गत अंजाम दे चुके है ।

इतना सब कुछ जानने के बाद पुलिस ने बाकी बचे हुए तीन आरोपियों को भी पकड़ लिया और पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि किस प्रकार से उन्होंने घटनाओ को अंजाम दिया है ।

यह हैं अपराधी
इन शातिर अपराधियो के नाम है महेश पिता टम्मू मचार उम्र 20 वर्ष निवासी मोहनपुर गड़ी , शिवा उर्फ़ शिवराज पिता लिमजी उम्र महज 19 वर्ष निवासी घोड़ाबाव् , कासम पिता मोहर सिंह उम्र 19 वर्ष निवासी मोहनपुर गड़ी और कारन पिता रामा जामदिया उम्र महज 19 वर्ष निवासी मोहनपुर गड़ी।

यह है इनके अपराधों की फेहरिस्त
दिनांक 28 जनवरी 2017 को इन्होंने इन्होंने हिम्मतगढ़ तिराहे पर लूटपाट के इरादे से एक मोटरसाकिल चालाक के साथ मारपीट की और उसकी मोटरसाइकिल छीन ली उसी दिन उसी चौराहे पर एक ट्रक को लूटने के लिए उस पर पत्थर बरसाए और काच फोड़ दिए जिसमे कंडक्टर घायल हुआ था जिसकी शिकायत थाना तिरला में दर्ज की गई थी ।

उसी दिनांक को देर रात को एक मारुती चालाक को रोककर उससे इन्होंने लूटपाट की और नगदी 2400 रूपये और मोबाइल छीन लिए और महिला के साथ मारपीट की जिससे वह घायल हुई थी जिसकी भी शिकायत दर्ज हुई थी ।

जिसके बाद दिनांक ११ फरवरी को नोगाव थाना अन्तर्गत जेतपुरा पहाड़ी पर एक बाइक पर सवार युवक युवती को रोका और मारपीट कर 4200 रूपये छीन लिए मौके पर पुलिस के पहुचने पर ये बाइक छोड़कर भाग जाने में सफल हो गए तस्दीक करने पर पता चला कि बाइक सादलपुर तहाने से चोरी की गई थी ।

जिसके बाद इन्होंने जो अपराध किया वह अपराधों में सबसे बड़ा था इन्होंने मजह 300 रूपये के लिए राजू की ह्त्या कर दी। आरोपियों ने बताया कि डीआरपी लाइन के सामने बने हेलीपेड के पास इन्होंने राजू को रोका और रूपये छीने परंतु राजू भी इन्ही के गाँव का था। लिहाजा उसने इनको पहचान लिया अपराध ना करने की सलाह दी। परंतु अपराधियो ने पहचान जाने के कारण उसकी पिट पिट कर ह्त्या कर दी। इन्होंने साइकिल की चेन से उसके साथ मारपीट की और पत्थर से मारकर ह्त्या की।

आरोपियों ने बताया कि शराब के नशे में थे इस कारण गलती से ह्त्या हो गई इरादा ह्त्या का नहीं था । हर हत्यारा यही कहता है कि गलती से हो गया अब यह अपने गुनाहों की सज़ा जेल में भुगतेंगे।
रिपोर्ट- @साबिर खान<

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com