Home > India > गणेशोत्सव: बीमे की रकम ने भी छुआ रिकॉर्ड लेवल

गणेशोत्सव: बीमे की रकम ने भी छुआ रिकॉर्ड लेवल

maharashtraमुंबई- 5 सितंबर को शुरू हो रहे गणेशोत्सव की तैयारी आखिरी दौर में है। गणेशोत्सव के लिए कड़ा पुलिस बंदोबस्त तो होगा ही, फिर भी भगवान गणेश और उनके भक्तों के लिए भरपूर बीमा सुरक्षा का भी इंतजाम किया गया है। गणपति की मूर्ति में बढ़ रहे सोने की मात्रा के कारण इस बार गणेश मंडल द्वारा कराए गए बीमे की रकम ने भी रिकॉर्ड लेवल छू लिया है।

शहर के सबसे धनी मंडल, किंग सर्कल के गौड़ सारस्वत ब्राह्मण (जीएसबी) सेवा मंडल ने 300 करोड़ रुपए का बीमा खरीदा है। यह रकम पिछले साल से भी 2 करोड़ ज्यादा है। चूंकि पिछले बार के मुकाबले इस साल इस्तेमाल की गई चांदी की मात्रा भी बढ़ा दी गई है, जाहिर है बीमे की रकम भी बढ़नी लाजमी थी। मंडल ने इस साल 17 किलो चांदी का मंडप बढ़ाया है।

मंडल के पूर्व प्रेसिडेंट आर जी भट्ट ने बताया, “गणपति की मूर्ति में 68 किलो सोना और 315 किलो चांदी का इस्तेमाल किया गया है। चांदी की मात्रा में इस बार 17 किलो की बढ़ोतरी की गई है। पिछले साल 298 किलो चांदी लगाई गई थी। एक भक्त ने मुराद पूरी होने पर काफी बड़ी राशि का दान दिया था, जिस वजह से यह संभव हो पाया। हमने उस राशि का इस्तेमाल मंडप को और ज्यादा खूबसूरत बनाने में किया।”

इस तरह है 300 करोड़ का बीमा-
25 करोड़ की राशि सजावट की चोरी को कवर करने के लिए, 10 करोड़ की राशि आग और भूकंप के लिए, 40 करोड़ पब्लिक देनदारी कवर के लिए और बाकी बचे 225 करोड़ भक्तों, अधिकारियों और कार्यकर्ताओं की सुरक्षा के लिए होता है।

मुंबई पुलिस की तैयारी चाक-चौबंद
मुंबई पुलिस के संयुक्त आयुक्त देवेन भारती ने बताया कि सुरक्षा में पुलिस के सभी आला अफसरों के साथ 55 हजार की कर्मियों की फौज तैयार रहेगी। खास बात यह है कि कई अहम ठिकानों पर ड्रोन से भी नजर रखी जाएगी। पुलिस ने पिछले साल भी ड्रोन का इस्तेमाल किया था जिससे उन्हें निगरानी रखने में काफी मदद मिली थी। इसलिए इस बार पुलिस शहर के दूसरे बड़े विसर्जन स्थलों पर भी ड्रोन तैनात करने की तैयारी में है।

मुंबई में कुल 11729 सार्वजनिक गणेश मंडल हैं तो एक लाख 71 हजार 977 घरों मे भी बप्पा विराजमान होते हैं। 11 दिन चलने वाले इस अनूठे उत्सव की सुरक्षा मुंबई पुलिस के लिए चुनौती बनी रहती है। शहर भर में गणेश मूर्ति विसर्जन के लिए 80 के करीब स्थल हैं। इसके लिए अभी से गाड़ियों के रूट और वहां की व्यवस्था की रूपरेखा भी तैयार कर ली गई है।

सड़कों पर सुरक्षा पुख्ता करने के लिए सभी पुलिस कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर ही दी गई हैं। एसआरपी और सीआरपीएफ की भी तैनाती की योजना है।




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com