Home > India > मुख्यमंत्री ने पवित्र भाव से नर्मदा सेवा यात्रा शुरू की है- नंद कुमार सिंह चौहान

मुख्यमंत्री ने पवित्र भाव से नर्मदा सेवा यात्रा शुरू की है- नंद कुमार सिंह चौहान

File_Pic

ओंकारेश्वर- मध्यप्रदेश के तीर्थस्थल ओंकारेश्वर में आज नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा के आगमन पर प्रदेश सरकार द्वारा आदि शंकराचार्य पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया है। इस दौरान भाजपा प्रदेशाध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री ने पवित्र भाव से नर्मदा सेवा यात्रा शुरू की है। और यह यात्रा गैर राजनीतिक यात्रा है । उन्होंने कहा कि शिवराज ने अनेक ऐसे काम किये है जिन्हें याद किया जायेगा उन कामों में एक नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा भी होगी। वहीँ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आदि शंकराचार्य की प्रतिमा बनाने की घोषणा के साथ कहा कि शंकराचार्य की प्रतिमा के लिए वह 11 किलो ताम्बा दान देंगे तो वहीँ नंद कुमार सिंह ने एक तोला सोना देने की बात कही।

संवैधानिक है प्रदेश को बंद कराना – नंदकुमार सिंह चौहान

आरएसएस के सुरेश जोशी ने कहा कि नर्मदा को पवन और पवित्र रखने के लिए हमें भी पवित्र होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि गंगा तो हिम के पिघलने से बनती है पर नर्मदा तो पेड़ो की जड़ के पानी से बनती है। इस लिए पेड़ लगाने चाहिए ।

नंद कुमार चौहान बोले- बाला बच्चन की इमेज की हत्या हुई !

श्री जोशी जी ने कहा कि आज पूरे देश की सभी नदियों में सब से शुद्ध नदी नर्मदा ही है । पर नर्मदा में हम गन्दगी और पूजा सामग्री अद्जले शव डाल कर उसे गंदा कर रहे है। इसे रोका जाना चाहिए । पहले परिवारों में संस्कार दिए जाते थे पर अब फेसबुक पर 5 हजार दोस्त तो हैं पर पडोसी तक को नहीं जानते । जब तक हम घर से ही संस्कार नहीं देंगे तब तक हम नदियों को पवित्र नहीं रख पायंगे।

कांग्रेस का हाथ आतंकवादियों के साथ- शिवराज सिंह

मुख्यमंत्री शिवराज में कहा कि नर्मदा मध्यप्रदेश की जीवन रेखा है । नर्मदा को अन्य नदियों से भी जोड़ेंगे । नर्मदा हमें जीवन देती है, बिजली देती है, सिचाई का पानी देती है पर हमने क्या दिया । हमने जंगलो का सफाया कर दिया । जिस से पेड़ो की संख्या कम हुई जिस से नर्मदा में पानी की कमी हो गई क्योंकि नर्मदा पेड़ की जड़ो से निकलने वाले पानी से निकलती है ।

ऐसे रो रहे है जैसे मौसी के लड़के की मौत हुई हो

उन्होंने कहा कि हम ओंकारेश्वर के पर्वत पर पेड़ लगाएंगे । और नर्मदा के दोनों किनारों पर एक किलोमीटर तक फलदार पेड़ लगवाया जायँगे । जिस से नर्मदा में पानी की धार बढ़ेगी और हम नर्मदा की सेवा कर पायंगे । नर्मद किनारों पर 5 किलो मीटर शराब दुकानों को बंद करवाया जायेगा । धीरे-धीरे पुरे प्रदेश को शराब मुक्त प्रदेश बनाया जायेगा।

मुख्यमंत्री के इशारे पर काम करता है लोकायुक्त 

अवधेशानंद महाराज ने कहा कि हम पूजा के नाम पर पेड़ो को भी काटते है। जबकि वेदों में पेड़ के काटने को भ्रम हत्या कहा गया है। पहले हमें जब लकड़ी चाहिए होती थी तो पेड़ के सूखे हिस्से को काटते थे पर अब पूरा पेड़ ही काट देते है । पेड़ काट देंगे तो पानी कहा से आएगा पानी को नीर कहा गया है नीर से ही नर (जीवन) है । इस लिए ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाए ताकि हमें पानी मिलता रहे। उन्होंने कहा कि गुरु की मूर्ति के लिए अपने घर से शुद्ध धातु दे ऐसा कर के हम गुरु को गुरू दक्षिणा देंगे। उन्होंने शिवराज की तारीफ भी की ।




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com