PM Modi addresses Indian expatriates at Dubai cricket stadiumनई दिल्ली – लोकनायक जयप्रकाश नारायण की बरसी पर मुंगेर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोमांस के मुद्दे का छुआ लेकिन राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को खरीखोटी सुनाने के लिए। दादरी में गोमांस खाने के शक में मारे गए इखलाक के मसले पर प्रधानमंत्री का बयान सुनने की उम्मीद में बैठे साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटा चुके लेखकों और तमाम विपक्षी दलों को निराशा ही हाथ लगी।

29 सितंबर को दादरी में हुए शर्मनाक वाकये के बाद मुंगेर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहली चुनावी रैली थी। अपने भाषण में उन्होंने इखलाक के मसले पर चुप्पी ओढ़े रखी, लेकिन लालू प्रसाद यादव को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने पूछा कि क्या आपके गांव में, शरीर में कभी शैतान आ सकता है? लेकिन लालूजी ने, जैसे रिश्तेदार आते हैं, उस शैतान को पहचान लिया है। मेरे मन में सवाल है, इस शैतान को यही एड्रेस कैसे मिला।

माना जा रहा है कि मोदी ने ये बयान लालू प्रसाद के उस बयान के संदर्भ में दिया है, जिसमें उन्होंने गोमांस के मसले पर मीडिया में चल रही खबरों पर कहा था कि कोई शैतान है, जो मेरे मुंह में डालकर ये बातें चला रहा है।

उल्लेखनीय है कि दादरी में गोमांस खाने के शक में भीड़ द्वारा इखलाक का कत्ल किए जाने के बाद लालू यादव ने कहा था कि पूरे देश का सांप्रदायीकरण किया जा रहा है। ‘बीफ जो खाता है खाता है, हिंदुओं में नहीं खाता है क्या बीफ? जो बाहर जा रहा है बीफ खा रहा है कि नहीं, हिंदुस्तान में भी तो बीफ खा रहा है।’

लालू ने कहा था, ‘अपने को हिंदू कहने वाला भी बीफ खा रहा है, जो मांस खाता है उसको गाय और बकरा से क्या फर्क है? ये सांप्रदाय‌ीकरण हो रहा है। कोई भी सभ्य आदमी मांस नहीं खाता, बीमारी के कारण।’

हालांकि जब लालू के बयान को भाजपा ने चुनावी मुद्दा बनाना शुरु किया और ये कहा कि अगर महागठबंधन की सरकार आई तो हर शहर में बूचड़खाने खुलवा दिए जाएंगे तब राजद सुप्रीमो ने कहा था कि उनके बयान को गलत ढंग से दिखाया जा रहा है। मीडिया पर नाराजगी जताते हुए उन्होंने कहा था कि कोई शैतान है, जो मेरे मुंह में डालकर ये बातें चला रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने मुंगेर में गोमांस के मसले पर टिप्पणी नहीं की, हालांकि लालू पर जमकर हमला बोला।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री के भाषण पर प्र‌तिक्रिया दी कि मोदी की वास्तविक चेहरा सामने आ गया है, बिहार के चुनाव को सांप्रदाय‌िक रंग देने का निर्लज्ज प्रयास किया, लेकिन दादरी जैसी निंदनीय घटना पर चुप्पी साध ली।

मोदी के बयान पर लालू यादव ने कहा कि मैं मोदी को चैलेंज करता हूं कि वो मेरा शैतान वाला बयान दिखाए वर्ना सार्वजनिक रूप से सभी बिहारियों को शैतान कहने के लिए तुरंत माफी मांगें।

मुंगेर रैली में दादरी मसले पर टिप्पणी न करने पर आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने कहा, ‘सभी ये आश्वासन चाहते हैं कि दादरी जैसा वाकया दोबारा न हो, लेकिन प्रधानमंत्री उस पर चुप हैं।’

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here