रक्तचाप अगर असामान्‍य हो, तो कई बीमारियां आपको घेर सकती हैं। इसलिए इसे नियं‍त्रण में रखना बेहद जरूरी है। लेकिन, सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि आखिर स्‍वस्‍थ रक्‍तचाप क्‍या होता है। और कैसे इसे कायम रखा जा सकता है।

रक्तचाप (ब्लड प्रेशर) रक्तवाहिनियों में बह रहे रक्त द्वारा वाहिनियों की दीवारों पर द्वारा डाले जा रहे दबाव को कहा जाता है। धमनियां वह नलिकाएं होती हैं जो रक्त को हृदय से शरीर के विभिन्न हिस्सों (ऊतकों (टिशू) और इंद्रियों) तक पहुंचाता है। हृदय रक्त को धमनियों में पंप कर धमनियों में रक्त प्रवाह को व्‍यवस्थित करता है। इस पर लगने वाले इस दबाव को ही रक्तचाप कहते हैं।

ब्लड प्रेशर एक गंभीर समस्या है। यह शरीर में छिपा एक घातक शत्रु है। अनियमित खान पान, गैस, अनींद्रा, नमक के अधिक सेवन से हाई ब्लड प्रेशर होना स्वाभाविक है। हाई ब्लड प्रेशर (उच्च रक्तचाप) से परेशान लोगों को नियमित  गोली का इस्तेमाल   करना चाहिए। – विज्ञापन

चिंता, क्रोध, ईर्ष्या, भय आदि मानसिक विकार। अनियमित खानपान। कई बार आवश्यकता से अधिक खाना। मैदा से बने खाद्य पदार्थ, चीनी, मसाले, तेल, घी, अचार, मिठाइयां, मांस, चाय, सिगरेट व शराब आदि का सेवन।

खाने में रेशे, कच्चे फल और सलाद न होना। शारीरिक श्रम न करना। पेट और पेशाब संबंधी पुरानी बीमारी। इन सब की वजह से होता है हाई ब्लड प्रेशर तला हुआ खाना, घी आदि कम से कम खाएं।

अपना वजन नियंत्रित रखें। खानपान और दिनचर्या नियमित रखें। तला हुआ खाना, घी आदि कम से कम खाएं। अपना वजन नियंत्रित रखें। खानपान और दिनचर्या नियमित रखें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here