Home > India > महिलाओं के लिए वरदान हैं वन स्टॉप सेंटर, क्या है खास

महिलाओं के लिए वरदान हैं वन स्टॉप सेंटर, क्या है खास

खण्डवा : महिला सशक्तिकरण विभाग , पुलिस विभाग , विधि विभाग, एनजीओ, स्वास्थ्य विभाग, एवं काउंसलर आदि को एक पाईंट पर लाने के लिए ही वनस्टॉप सेन्टर की रचना की गई है। यह कोई नई योजना नहीं बल्कि प्रचलित योजनाओं को प्रभावी बनाने का प्रयास है अर्थात विभिन्न लडियों को माला में पिरोने की कोशिश है। यह बात कलेक्टर श्रीमती स्वाति मीणा नायक ने गुरूवार को गणेश तलाई में आयोजित वन स्टाप सेंटर व उषा किरण केन्द्र से संबंधित 2 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला को संबोधित करते हुये कही। उन्होंने कहा कि सभी संस्थाओं को एक दूसरे की आवश्यकता होती है अतः सभी विभागों को मिलकर महिला कल्याण के लिए काम करना होगा तभी यह सखी सेंटर प्रभावी होगा और इसकी सार्थकता रहेगी। उन्होंने कहा कि हर 15 दिन में इस प्रकार की कार्यशाला आयोजित करें। कार्यक्रम का शुभारंभ माँ सरस्वती के समक्ष दीपप्रज्जवलन कर किया गया।

कलेक्टर श्रीमती नायक ने कार्यशाला को संबोधित करते हुये कहा कि घरेलू हिंसा से पीड़ित महिलाओं को संरक्षण प्रदान करने हेतु उषा किरण योजना प्रारंभ की गई है। इस योजना में पीड़ित महिलाओं एवं बच्चों को सहायता उपलब्ध कराने का प्रावधान किया गया है। योजना में पीड़ित महिलाओं को अस्थाई आश्रय, कानूनी सहायता, चिकित्सा सहायता, पुलिस सहायता दिये जाने एवं उन्हें प्रशिक्षण प्रदान करने तथा उनका पुनर्वास करने आदि जैसी सेवायें दिये जाने का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि उषा किरण योजना के तहत वन स्टाप सेंटर (सखी) में एक ही छत के नीचे एक ही स्थान पर किसी भी हिंसा से पीड़ित महिलाओं एवं बालिकाओं को अस्थायी आश्रय, पुलिस डेस्क, विधि सहायता, चिकित्सा एवं काउंसलिंग की सुविधा उपलब्ध करायी जाये। साथ ही पेशेवर व प्रशिक्षकों के साथ विभिन्न सामाजिक आर्थिक संगठनों और समाज के गणमान्यजनों को भी इस हेतु योगदान देने के लिए आमंत्रित किया जाये तथा महिला उद्यमिता, कौशल उन्नयन एवं शिक्षा आदि हेतु भी एकीकृत रूप से प्रयास किये जाये।

इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महेन्द्र तारनेकर ने संबोधित करते हुये कहा कि इस अनूठी योजना के प्रचार-प्रसार की आवश्यकता है, किसी भी समस्या के लिए व्यक्ति पुलिस अधीक्षक कार्यालय आते है, इस समस्या के समाधान हेतु उन्होंने कहा कि डीएसपी महिला सेल आपके साथ सप्ताह में 3 दिन बैठेंगी तथा एक वायरलेस सेट, एक सब इंस्पेक्टर, होमगार्ड के जवान को ड्यूटी पर तैनाती की जायेगी। उन्होंने कहा कि पुलिस की जब भी आपको सहायता लगेगी हमेश तैयार है। इस अवसर पर वनस्टॉप सेंटर प्रभारी रीता नाथ ने भी संबोधित किया तथा सभी का आभार माना। इस दौरान महिला सषक्तिकरण अधिकारी हेमलता सोलंकी , सभी विकासखण्डों के विभिन्न अधिकारी, कर्मचारी एवं स्वयं सेवी संस्थाओं के सदस्य मौजूद थे।






Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com