इस्लामाबाद : हिंदुओं पर आपमानजनक टिप्पणी करने के बाद खुद की ही पार्टी और जनता के बीच घिरे पंजाब प्रांत के सूचना और सांस्कृतिक मंत्री फैयाजुल हसन चौहान को आखिरकार इस्तीफा देना पड़ा। चौहान ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में हिंदू समुदाय को ‘गाय का मूत्र पीने वाला’ बताया था। इसके बाद इमरान खान समेत पार्टी के कई नेतओं ने उनकी आलोचना की। ट्विटर पर भी पाकिस्तान ट्रेंडिंग में #SackFayazChohan टॉप पर था। लोग उनके इस्तीफे की मांग कर रहे थे।

फैयाज चौहान ने कहा था, ‘हम मुस्लिम हैं और हमारे पास झंडा है, झंडा है मौला अली की बहादुरी का, झंडा है हजरत उमर के शौर्य का। तुम हिंदुओं के पास यह झंडा नहीं है, यह तुम्हारे हाथ में नहीं है।’ उन्होंने सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में कहा था, ‘इस भ्रम में न रहो कि तुम हमसे सात गुना ज्यादा बेहतर हो। जो हमारे पास है, वह तुम्हारे पास नहीं है। मूर्ति को पूजने वाले।’

हालांकि मंत्री ने अपने इस बयान पर माफी मांगी थी। उन्होंने कहा कि यह बात उन्होंने पाकिस्तान के अल्पसंख्यकों के लिए नहीं बल्कि प्रधानमंत्री मोदी के लिए कही थी। फयाज ने कहा था कि वह इसे धर्म का अपमान नहीं मानते। पीटीआई नेता नईमुल हक ने कहा था कि फैयाज चौहान ने हिंदू समुदाय के लिए अपमानजनक बयान दिया है।