लोकसभा में राहुल गांधी के रेप इन इंडिया बयान पर बवाल, भाजपा ने की माफ़ी की मांग

लोकसभा में आज राहुल गांधी के रेप इन इंडिया बयान को लेकर संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा हुआ।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के नेतृत्व में महिला सांसदों ने कांग्रेस सांसद के बयान पर अपनी नाराजगी व्यक्त की।

उन्होंने राहुल गांधी से इस बयान को लेकर माफी मांगने को कहा है ईरानी ने कहा कि गांधी खानदान के बेटे ने और सदन के सांसद ने महिला से बलात्कार का आह्वान किया है।

इस पर डीएमके सांसद कनिमोझी ने राहुल का बचाव करते हुए सफाई दी। हंगामा बढ़ता देख लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

राजनाथ सिंह ने राहुल गांधी के बयान को लेकर कहा कि मैं उनके बयान से आहत हूं। उन्हें माफी मांगनी चाहिए। राहुल को सदस्य बने रहने का अधिकार नहीं है।

डीएमके की कनिमोझी ने राहुल के बयान पर कहा, प्रधानमंत्री ने मेक इन इंडिया कहा था जिसका हम सम्मान करते हैं लेकिन देश में क्या हो रहा है? यही राहुल गांधी के कहने का मतलब था। दुर्भाग्य से मेक इन इंडिया नहीं हो रहा और देश की महिलाओं के साथ दुष्कर्म हो रहा है। यही हमारी चिंता है।

राहुल गांधी ने 12 दिसंबर को झारखंड के गोड्डा में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था, ‘नरेंद्र मोदी ने कहा था ‘मेक इन इंडिया’ लेकिन आजकल आप जहां भी दिखते हैं, वह ‘रेप इन इंडिया’ है। उत्तर प्रदेश में नरेंद्र मोदी के विधायक ने एक महिला के साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद वह दुर्घटना का शिकार हो गई लेकिन नरेंद्र मोदी ने एक शब्द नहीं बोला।’

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने लोकसभा में राहुल गांधी के रेप इन इंडिया बयान पर कहा, ‘इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि कोई नेता यह सफाई दे रहा है कि भारतीय महिलाओं के साथ बलात्कार किया जाना चाहिए। क्या यह देश के लिए राहुल गांधी का संदेश है?’

राहुल गांधी ने झारखंड में एक रैली को संबोधित करते हुए भारत को रेप कैपिटल बताया था। इसे लेकर लोकसभा में भाजपा सांसद ने हंगामा किया। उन्होंने राहुल से माफी की मांग की है।

भारतीय जनता पार्टी 14-18 दिसंबर तक दिल्ली, मुंबई, बंगलूरू, कोलकाता, गुवाहाटी और लखनऊ में लोगों को नागरिकता संशोधन विधेयक पर जागरुक करेगी।