modi kejriwalनई दिल्ली- दिल्ली में विधायकों का वेतन बढ़ाने के बाद आलोचना झेल रहे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सैलरी भी बढ़ाई जानी चाहिए। उन्होंने दिल्ली विधानसभा में पीएम मोदी की सैलरी का मजाक बनाते हुए कहाकि कल को वे ओबामा से मिले तो क्या बोलेंगे? उनका वेतन कम से कम 8-10 लाख रुपये होना चाहिए। इस दौरान केजरीवाल हंसते नजर आए।

उन्होंने कहाकि एक लाख रुपये प्रति माह की सैलरी कैसे तर्कसंगत नहीं है? विधायकों के वेतन में वृद्धि लागू होने के बावजूद वे मीडिया संस्थानों के संपादकों और टीवी एंकरो की कमाई की तुलना में 120वां हिस्सा भी नहीं कमा पाएंगे। अगर पीएम का वेतन इससे कम है तो उनका वेतन बढ़ाया जाना चाहिए।

विधायकों को उचित वेतन और अन्य सुविधाएं देना महत्वपूर्ण है लेकिन अगर अब भी वे भ्रष्टाचार में लिप्त रहते हैं तो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। गौरतलब है कि भारत के प्रधानमंत्री की सैलरी 1.60 लाख रुपये प्रतिमाह है। इसमें वेतन भत्ते अलग से मिलते हैं। दिल्ली विधानसभा में गुरुवार को विधायकों का वेतन बढ़ाए जाने का बिल पास किया गया था जिसके बाद वेतन भत्ते मिलाकर 2.35 लाख रुपये प्रति महीने हो गया। इसके तहत मूल वेतन 12 हजार रुपये से बढ़ाकर 50 हजार रुपये किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here