चनैनी: देश की सबसे लंबी सुरंग जम्मू से कश्मीर तक का उद्घाटन आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया है. इस खास अवसर पर पीएम मोदी के साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती मौजूद थी. बता दें कि इस सुरंग को बनाने में 7 साल का वक्त लगा है । यह टनल 30 किमी की दूरी को कम करेगी, इससे रोजाना करीब 27 लाख रुपए का ईंधन बचेगा ।

इस सुरंग के जरिए हर मौसम में आना -जाना आसान हो जाएगा. नैशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने इस सुंरग को बनाने में 3, 720 करोड़ रुपये खर्च किए ।

इससे जम्मू और कश्मीर के बीच दूरी 41 किलोमीटर कम हो जाएगी. करीब ढाई घंटे की बचत होगी और करीब 30 लाख रूपये ईंधन की महीने में बचत होगी सो अलग ।

1200 मीटर की ऊंचाई पर बने इस सुरंग में दो समानातंर ट्यूब हैं. मुख्य ट्यूब का व्यास 13 मीटर है और सुरक्षा ट्यूब या निकास ट्यूब का व्यास छह मीटर है. दोनों ट्यूब में 29 जगहों पर क्रॉस पैसेज है. मुख्य ट्यूब में हर 8 मीटर पर ताजा हवा के लिए इनलेट बनाए गए हैं. हवा बाहर जाने के लिए हर 100 मीटर पर आउटलेट बनाए गए हैं ।

सुरंग में हर 150 मीटर पर एसओएस बॉक्स लगे हैं. आपातकालीन स्थिति में यात्री इनका इस्तेमाल हॉट लाइन की तरह कर सकेंगे. आईटीसीआर से मदद पाने के लिए यात्रियों को एसओएस बॉक्स खोलकर बस ‘हैलो’ बोलना होगा । एसओएस बॉक्स में फर्स्टएड का सामान और कुछ जरूरी दवाएं भी होंगी ताकि किसी तरह का हादसा होने पर उन्हें तुरंत जरुरी मदद मिल सके ।