Home > India > सरकार के दावे से उलट है हकीकत, किसान हैं परेशान

सरकार के दावे से उलट है हकीकत, किसान हैं परेशान

Demo-Pic

Demo-Pic

फाजिल्का- पंजाब सरकार द्वारा पूरे पंजाब में 1अप्रैल से कनक की सरकारी ख़रीद शुरू कर दी गई है ! लेकिन मंडियों में ख़रीद न होने से किसानों में रोष देखने को मिल रहा है ! जिस के चलते ज़िला फाजिल्का की अनाज मंडी में किसानों ने ज़िला प्रशासन के ख़िलाफ़ रोष प्रदर्शन किया।

फाजिल्का अनाज मंडी में कनक के अंबार लगने शुरू हो गए हैं | कनक की खरीद सुचारू ढंग से न चलने के कारण ज़िला प्रशासन के खरीद प्रबंधों की पोल खुलती नज़र आ रही है | पंजाब सरकार ने चाहे एक अप्रैल से पंजाब भर की मंडियों में गेहूँ की खरीद शुरू करन दे बड़े बड़े दावा किये थे | जिसके तेहत फाजिल्का की अनाज मंडी में खरीद के काम की शुरूआत स्थानिक विधायक और सेहत मंत्री सुरजीत कुमार ज्यानी ने ज़िला प्रसासनिक अधिकारी की मौजुदगी में की थी और कहा थी कि इस बार किसानों को मंडी में कोई मुश्किल नहीं आयेगी परन्तु फाजिल्का की मुख्य अनाज में हज़ारों टन गेहूँ की आमद हो चुकी है |

मंडी में कई दिन से बैठे किसानों ने बताया कि इस बार मौसम की ख़राबी के कारण गेहूँ की कटाई का काम देरी के साथ शुरू हुआ है परन्तु अब गाँव में बड़े स्तर पर गेहूँ की कटाई का काम शुरू हो गया है, मंडी में गेहूँ की खरीद प्रबंधों से किसानों में निराशा पाई जा रही है |

किसानों ने बताया कि एक हफ़्ते से ज़्यादा हो चला है उन को मंडी में गेहूँ लाये परन्तु एक दिन मंडी में खरीद एजेंसियाँ चक्कर मार कर चलीं गई | मंत्री और अधिकारी भी आए खरीद करा चले गए परन्तु उसके बाद न बारदाना मिला और न कोई अधिकारी आया |

किसानों ने कहा कि अगर आने वाले दिनों में प्रसासनिक अधिकारीयो ने इस तरफ ध्यान न दिया तो मंडी में गेहूँ के अंबार लग जाएंगे | किसानों ने कहा कि उन को डर सता रहा है कि हर वर्ष बेमौसमी वर्षा फ़सलों को ख़राब करती है |परन्तु इस बार सरकारी अधिकारी कुदरती प्रकोप से बेख़बर हो किसानों की सार नहीं ले रहे और बिना पानी और छाव प्रबंध के चलते उनको कड़कती धूप में परेशान होना पड़ रहा है।

फाजिल्का की अनाज मंडी में बैठे किसाना ने बताया कि पिछले समय हुई बेमौसमी बारिश के साथ उनकी फ़सल का झाड़ भी 10 से 15 मन तक कम गया है और बेंक से लिए कर्ज़ की ब्याज दिनों दिन बढ़ रही है और उन्होंने बताया कि पहले उनकी नरमे की फ़सल महगी स्प्रे करके भी ख़राब हो गई थी और मुआवज़े के तौर उनको सिर्फ 100,100, रुपए ही दिए गए थे और अब खरीद न होने से उनको परेशानियाँ का सामना करना पड़ रहा है उन्होंने सरकार से अपील करते कहा कि उनकी इस समस्या का जल्द से जल्द हल किया जाऐ।

व्जब ईस मामले सबंधी फाज़िलका डिप्टी कमिशनर मैडम ईशा कालिया से बात की तो उन्होंने बताया कि कल खरीद एजेंसियों की आपसी लड़ाई के चलते खरीद नहीं हुई थी जिसे अब सुलझा लिया गया है और आज से खरीद और लिफ्टिंग शुरू कर दी गई है !

रिपोर्ट @इन्द्रजीत सिंह

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com