राजस्थान संकट : राहुल गांधी नहीं चाहते कि युवा नेता आगे बढ़ें -उमा भारती

उमा भारती ने राहुल गांधी को निशाने पर लेते हुए कहा, ‘मध्य प्रदेश के अंदर जो कुछ हुआ और राजस्थान में इस वक्त जो कुछ हो रहा है, उसकी वजह राहुल गांधी हैं।

नई दिल्ली: राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार के ऊपर छाए संकट के लिए भाजपा की दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को जिम्मेदार ठहराया है। उमा भारती ने सोमवार को पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट जैसे युवा नेताओं के प्रति ये राहुल गांधी की ईर्ष्या ही है, जिसने कांग्रेस के विनाश को जन्म दिया है। इसके साथ ही उमा भारती ने सचिन पायलट को खुले तौर पर भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने का न्योता भी दिया।

उमा भारती ने राहुल गांधी को निशाने पर लेते हुए कहा, ‘मध्य प्रदेश के अंदर जो कुछ हुआ और राजस्थान में इस वक्त जो कुछ हो रहा है, उसकी वजह राहुल गांधी हैं। राहुल गांधी नहीं चाहते कि कांग्रेस के अंदर योग्य और पढ़े-लिखे युवा नेता आगे आएं, क्योंकि अगर ऐसा हुआ तो उन्हें डर है कि कहीं वो खुद पीछे ना छूट जाएं। सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया दोनों ही योग्य नेता हैं। ये दोनों मेरे भतीजे की तरह हैं, अगर सचिन पायलट भाजपा में आते हैं, तो हमें बहुत खुशी होगी।’

आपको बता दें कि तीन महीने पहले ही मध्य प्रदेश की सत्ता गंवा चुकी कांग्रेस के सामने अब राजस्थान में सरकार बचाने का संकट खड़ा हो गया है। राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने खुले तौर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ बगावत कर दी है। सचिन पायलट पिछले दो दिन से दिल्ली में हैं, लेकिन उनकी मुलाकात कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी या राहुल गांधी से नहीं हो पाई। वहीं, कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि शीर्ष नेतृत्व लगातार सचिन पायलट के संपर्क में है।

वहीं, सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जयपुर स्थित अपने आवास पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई। बैठक के बाद सीएम गहलोत के मीडिया सलाहकार ने बयान देते हुए कि कहा कि इस मीटिंग में 107 विधायक मौजूद थे। इसके बाद सभी विधायकों को बस में बिठाकर जयपुर के होटल फेयरमोंट भेज दिया गया। इस बैठक में सचिन पायलट शामिल नहीं हुए। सचिन पायलट के एक करीबी नेता ने कहा कि जिस समय विधानसभा का कोई सत्र नहीं चल रहा है, उस समय मुख्यमंत्री का इस तरह व्हिप जारी करना नियमों के खिलाफ है। इसके अलावा मुख्यमंत्री के घर पर बैठक के लिए व्हिप कैसे जारी किया जा सकता है।

इस बीच सोमवार को कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला भी जयपुर पहुंचे और सचिन पायलट से अपील करते हुए कहा कि वो वापस लौट आएं, जो भी मतभेद हैं उन्हें बैठकर सुलझाया जाएगा। सुरजेवाला ने कहा कि अगर किसी को अपने पद या प्रोफाइल को लेकर कोई समस्या है, तो ऐसी स्थिति में पार्टी फोरम पर अपनी बात रखनी चाहिए। इसके साथ ही सुरजेवाला ने यह भी आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी राजस्थान में लोकतंत्र को खरीदना चाहती है।