rahul gandhi amethiमहोबा- ”देश के शिक्षण सस्थानों में आम छात्रों की सोच को दबाकर एक अलग तरह की सोच यानी ‘RSS की सोच’ थोपने की कोशिश की जा रही है” यह बात कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने हैदराबाद विश्वविद्यालय की घटना का जिक्र करते हुए और केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कही !

दरअसल राहुल गांधी बुंदेलखंड के सूखे का हाल जानने निकले थे वहीँ उन्होंने महोबा जिले में पावा चौराहे से लाड़पुर तक की पदयात्रा के दौरान शनिवार को सवाददाताओं से कहा कि हैदराबाद में जो हो रहा है, उसे इनटॉलरेंस (असहिष्णुता) कहें या एक सोच को थोपने की कोशिश?

उन्होंने कहा कि छात्रों की सोच को दबाने की कोशिश हो रही है और एक सोच (आरएसएस) को थोपने की कोशिश की जा रही है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हैदराबाद विश्वविद्यालय के कुलपति भी इसी सोच के लिए काम कर रहे हैं।राहुल ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अब लोगों को बातों से बहलाना बंद करना चाहिए और काम की शुरुआत करनी चाहिए।
उन्होंने कहा, “हैदराबाद की घटना पर मुझे दुख हुआ और आंसू आए, मगर वहां का कुलपति अब भी बैठ हुआ है, उस पर कार्रवाई की जाए। सत्ता में बैठे लोग आंसू बहाने की जगह एक्शन लें।”