Home > State > Rajasthan > सीकर में तेज़ बारिश, बाढ़ के हालात

सीकर में तेज़ बारिश, बाढ़ के हालात

rain

सीकर- प्रदेश में मानसून की सक्रियता से प्रदेश के सातों संभागों में जोरदार बारिश का दौर चल रहा है। शेखावाटी क्षेत्र के ज्यादातर स्थानों पर बारिश हुई है। सीकर में पिछले तीन दिनों रह-रहकर बारिश के कारण बाढ़ के हालात बन गए। यहां गलियों में पानी उफान मार रहा था, घरों में पानी घुस गया। सीकर में बेसमेंट में पानी भरने के कारण एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई। शेखावाटी क्षेत्र में तेज व लगातार बारिश के बाद सीकर में बाढ़ के हालात हो गए हैं।

समस्त शेखावाटी क्षेत्र में ही लगातार बारिश के कारण इस पानी का निकास न होकर गांव के खेतों व शहरी क्षेत्र में जमा होने से चारों ओर पानी भर गया है। सीकर में गुरुवार सुबह करीब चार बजे शुरू हुआ बारिश का सिलसिला देर शाम तक जारी रहा। यहां पांच इंच से अधिक बरसात हुई है। जबकि गुरुवार शाम को भी यहां रात में बारिश हो रही थी। प्रदेश में सबसे अधिक बारिश नीमका थाना में हुई। सीकर जिला मुख्यालय व आस-पास का क्षेत्र जलमग्न हो गया।

एक युवक की मौत हो गई। प्रशासन ने युवक के परिवार को चार लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है। अनेक लोग बेघर हो गए। प्रशासन को सात जगहों पर राहत शिविर लगाने पड़े। जयपुर से नागरीक सुरक्षा दल को भी बुलाना पड़ा है। भारी बारिश की वजह से सीकर के राधाकिशन पुरा में महिपाल के घर में बरसाती पानी मकान के बेसमेंट में भर गया यहां महिपाल का साला संदीप सो रहा था। संदीप अपने जीजा के पास रहकर दसवीं की पढ़ाई कर रहा था। बेसमेंट में पानी घुसने पर महिपाल को संदीप के साथ किसी अनहोनी की आशंका हुई।

वह आस-पास के लोगों की मदद से उसे बचाने का प्रयास किया, लेकिन सफलता नहीं मिली। इस दौरान सूचना पाकर प्रशासन का बचाव दल भी पहुंच गया। उन्होंने करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद करीब दस बजे बाहर निकाला जा सका। तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। एसके अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। इससे पहले भी कई जगहों पर अतिवृष्टि हो चुकी है। सीकर, लक्ष्मणगढ़ और नवलगढ़ में वर्ष 2012 की 22 व 23 अगस्त को हुई। पीछले चौबीस घंटों में मानसून की सक्रियता सातों संभागों में रही। जयपुर, अजमेर, बीकानेर व कोटा में मध्यम वर्षा का दौर चला जबकि जोधपुर व भरतपुर संभाग में हल्की वर्षा हुई।

राजधानी जयपुर में सुबह से शाम तक कई बार रह रहकर बारिश चलती रही। सुबह एक घंटे से अधिक तक लगातार रिमझिम बारिश लगातार चलती रही। अधिकारी व व्यापारी अपने कार्य स्थल पर जाने के लिए परेशान होते रहे। कई स्थानों पर सडक़ किनारे पानी भरा होने के कारण यातायात भी रेंग-रेंगकर चला, जबकि कई स्थानों पर सडक़ के किनारे जमीन धंस गई। हवा में नमी की मात्रा बढक़र अधिकतम 96 प्रतिशत तक नापी गई। सुबह आठ बजे तक 6.3, व शाम पांच बजे तक 1 सेंटीमीटर बरसात हुई है।

मौसम विभाग के मुताबिक फिलहाल पारिस्तिथिकी तंत्र से मानसून को सपोर्ट मिल रहा है। इसके कारण राज्य में कई स्थानों पर बारिश को दौर चल रहा है। इसके आगामी 24 घंटों में विशेषकर पश्चिमी भागों व पूर्वी भागों में और सक्रिय रहने की संभावना है। इससे भरतपुर, जयपुर अजमेर संभाग में तो बारिश होगी। साथ ही कोटा व जोधपुर संभाग में भी कई स्थानों पर बरसात की संभावना है। एजेंसी 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com