MP: बुरी नजर से बचने के लिए निगम के गेट में लटकाया नीबू- मिर्च - Tez News
Home > India News > MP: बुरी नजर से बचने के लिए निगम के गेट में लटकाया नीबू- मिर्च

MP: बुरी नजर से बचने के लिए निगम के गेट में लटकाया नीबू- मिर्च

सतना : मध्यपरदेश सरकार का विज्ञापन एमपी अजब हैं …… आप सब ने देखा और सुना होगा ऐसा ही अजब गजब एक मामला मध्यप्रदेश के सतना जिले में सामने आया हैं। अभी तक आपने किसी इंसान या बच्चे को नजर लगने की बात तो सुनी होगी, लेकिन नगर निगम को भी नजर लगती है ये शायद पहली बार सुन रहे होंगे।

आपको जानकर हैरानी होगी कि सतना नगर निगम को किसी की बुरी नजर लग गई है। इसके चलते नगर निगम में रोज ही कोई न कोई नई बला आ जाती है। इसकी वजह से महापौर ममता पांडेय से लेकर निगम के सभी अधिकारी-कर्मचारी भी परेशान हैं।

महापौर ममता पांडेय का कहना है कि जब से सतना स्मार्ट सिटी घोषित हुआ तब से निगम को किसी की नजर लग गई है। इसे दूर करने के लिए शनिवार को निगम परिसर में हवन का आयोजन किया गया। सुबह 10 बजे नगर निगम में महापौर ममता पांडेय और प्रभारी आयुक्त आरपी डेहरिया ने हवन कर पूजा पाठ किया।

महापौर ममता पांडेय ने हवन करने के बाद पूजा किया और फिर तंत्र-मंत्र से वशीभूत करके एक नीम्बू और पांच हरी मिर्च को एक धागे में पिरोकर नगर निगम के गेट में बांध दिया। इस दौरान महापौर ने भगवान से प्रार्थना करते हुए कहा कि निगम को किसी की नजर न लगे।

निगम में आने वाली सभी बलाएं दूर हों और मुसीबतोें से छुटकारा मिले। साथ ही उन्होंने स्मार्ट सिटी सहित सभी प्रकार की योजनाओं का सही क्रिन्यावन तथा सुख समृद्धि की कामना की। इस दौरान भाजपा पार्षद, नगर निगम के इंजीनियर व अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।

दरअसल 23 जून को सतना नगर निगम स्मार्ट सिटी घोषित हुआ और 26 जून को निगम आयुक्त सुरेन्द्र कुमार कथूरिया 22 लाख की रिश्वत लेते हुए पकड़ गए। जिन्हें बाद में जेल भी जाना पड़ा। उधर नगर निगम में एक डॉक्टर दंपती और निगम कर्मचारियों के बीच विवाद हो गया, जिसे लेकर खूब हंगामा हुआ।

इसके बाद तीन दिनों तक कर्मचारी हड़ताल पर रहे और शहर की मूलभूत सुविधाएं ठप रहीं। उधर कथूरिया के जेल जाने के बाद आरपी डेहरिया को प्रभारी आयुक्त बना दिया गया। लेकिन उनके कुर्सी संभालने के एक दिन बाद ही अज्ञात वाहन ने उनकी कार को जोरदार टक्कर मार दी।

इसके दूसरे दिन आयुक्त ने दो इंजीनियरों को निलंबित कर दिया और फिर इतना बवाल हुआ कि दो घंटे बाद ही आदेश निजरस्त करना पड़ा।

शनिवार को जिस समय निगम में हवन चल रहा था, उसी समय आयुक्त के चेम्बर में शार्ट सर्किट से आग भड़क गई उसे जल्द ही बुझा लिया गया। उसी समय हवन कार्यक्रम मेें शामिल एक कर्मचारी का किसी ने पर्स पार कर दिया। यहां कुछ लोग ऐसे हैं जो नहीं चाहते की सतना का विकास हो, इसलिए सतना स्मार्ट सिटी घोषित होने के बाद जादू-टोना कराने लगे हैं। मुझे लगता है कि नगर निगम को किसी की नजर लग गई है, इसलिए हवन कार्यक्रम किया गया है। ताकि सुखसमृद्धि आए और शहर का विकास हो सके।

ममता पांडेय, महापौर

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com