नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से कहा है कि 6 मई से पहले वो पीएम नरेंद्र मोदी और भीजेपी अध्यक्ष अमित साह के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन के आए 9 शिकायतों का निटपारा करे। बता दें कि इस संबंध में कांग्रेस ने चुनाव आयोग में शिकायत कर कहा है कि पीएम मोदी और अमित शाह ने प्रचार के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन किया है।

आचार संहिता उल्लंघन को लेकर पीएम और बीजेपी अध्यक्ष के खिलाफ 9 शिकायतें दर्ज हैं। इसके बाद भी आयोग ने कोई फैसला नहीं लिया है। जिसके बाद यह मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया। और आज सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को कहा है कि वो 6 मई से पहले इन शिकायतों पर अपना फैसला ले। बता दें कि चुनाव आयोग ने बुधवार को यह साफ कर दिया है कि लातूर में पीएम मोदी की ओर से दिया गया बयान आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है।

लेकिन ये जो नौ शिकायत हैं ये भी आचार संहिता के उल्लंघन से ही जुड़ा हुआ है जो पीएम मोदी और अमित शाह अलग-अलग रैलियों में बयान दिए हैं। कांग्रेस पार्टी की ओर से कुल 9 शिकायतें ऐसी हैं जिस पर चुनाव आयोग अभी तक कोई फैसला नहीं ले पाया है। लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद उसे 6 मई से पहले इन सभी 9 शिकायतों पर फैसला लेना होगा।

गुरुवार को हुई सुनवाई में याचिकाकर्ता सुष्मिता देव की ओर से पेश वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि 31 दिमों में केवल दो शिकायतों का निपटारा किया गया है। ऐसे में तो सभी शिकायतों के निपटारे में 250 से अधिक दिन लग जाएंगे। सिंघवी ने कहा कि जिन शिकायतों का निपटार भी किया तो उसकी वजह नहीं बताई गई। उन्होंने कोर्ट को बताया कि चुनाव आयोग के पास कुल 40 शिकायते आईं थीं, जिसमें 20 पर फैसला लिया गया जो कि दूसरे लोगों के खिलाफ थे। लेकिन पीएम मोदी और अमित शाह के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।