आप कभी अनचाहे गर्भ की शिकार नहीं होंगी ! - Tez News
Home > 18+ News Adult > आप कभी अनचाहे गर्भ की शिकार नहीं होंगी !

आप कभी अनचाहे गर्भ की शिकार नहीं होंगी !

अनचाही प्रेगनेंसी आपके खास पलों को दुखद एहसास में बदलने की कोई कोर कसर नहीं छोड़ती ऐसे में जोड़ा हर संभव तरीके से अनचाही प्रेगनेंसी बचने की कोशिश करता है, लेकिन क्या आपको पता है कि कंडोम के बिना भी आप अनचाही प्रेगनेंसी से बच सकती हैं। जी हां, सेक्स करते समय कुछ देसी नुस्खे अपनाएं और आपके ऊपर कभी नहीं मंडराएगा अनाचहे गर्भ का खतरा।

सेक्स के दौरान जरूर रखें  और इन बातों का ध्यान आप कभी अनचाहे गर्भ की शिकार नहीं होंगी-

महिलाओं की माहवारी से पांच दिन पहले और पीरियड के पांच दिन बाद के काल को सुरक्षित संभोग काल माना गया है। इस दौरान आप दोनों बिना कंडोम के सहवास का आनंद उठा सकते हैं। यही नहीं, इस सुरक्षित काल में आपको पत्नी का साथ भी भरपूर मिलेगा, क्योंकि इस दौरान स्त्री के अंदर भी तीव्र सेक्स इच्छा जग उठती है। हां, पीरियड की गणना सही तरीके से करें।

गर्भ ठहरने से बचने के लिए सदियों से चले आ रहे कुछ घरेलू नुस्खे:

1. सेक्स करते समय प्याज का रस योनी में रखने पर शुक्राणु बेसर हो जाते हैं।
2. पीरियड के बाद लहसुन की दो कलियां छीलकर निगल जाएं तो गर्भ नहीं ठहरेगा।
3. पीपल, सुहागा व बायबिडंग को बराबर-बराबर लेकर पीस लें। जिस दिन पीरियड आरंभ हो उस दिन से सात दिनों तक छह ग्राम चूर्ण पानी से खाएं, एक वर्ष तक गर्भ नहीं ठहरेगा।
4. तालीसपत्र व गेरू को 25 ग्राम लेकर चार दिनों तक ठंडे पानी से पीने से स्थाई बांझपन आ जाती है।
5. सीताफल का बीज पीसकर योनी में मलने से गर्भ नहीं ठहरेगा और इससे गर्भाशय की सफाई भी हो जाती है।
6. पीरियड के बाद चमेली के फूल की कली लगातार तीन दिन तक पानी के साथ खाने से एक वर्ष तक गर्भ नहीं ठहरता है।
7. पीरियड बंद होने के बाद एक कप तुलसी के पत्ते लेकर काढ़ा बनाएं और तीन दिन तक लगातार पीएं। इससे गर्भ भी नहीं ठहरेगा और कोई नुकसान भी नहीं होगा।
8. हल्दी की गांठ पीसकर उसे छान ले। छह ग्राम पाउडर पानी के साथ खाएं। इसे पूरे पीरियड के दौरान खाएं तो गर्भ नहीं ठहरेगा।
9. पीरियड के पांचवें दिन करेले का रस पीने से गर्भ नहीं ठहरता है।
10. संभोग के दौरान नीम के तेल में रूई का फाहा भिंगोकर योनी में रखने से गर्भ ठहरने की संभावना नहीं रहती है।

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com