shanti bhoshanनई दिल्ली – आम आदमी पार्टी के संस्थापक रहे शांति भूषण के अरविंद केजरीवाल पर हमले और तीखे होते जा रहे हैं। एक दिन पहले बीजेपी की किरन बेदी की तारीफ करने वाले शांति भूषण ने अब कहा है कि अरविंद केजरीवाल सत्ता के भूखे हो गए हैं।

एक न्यूज चैनल से बातचीत में शांति भूषण ने कहा कि केजरीवाल रास्ते से भटक गए हैं। उन्होंने कहा, ‘हमने पार्टी इसलिए बनाई थी कि बीजेपी में भी दोष है वे कम्यूनल हो जाते हैं। लेकिन ऐसा लगता है कि केजरीवाल ने जो कैंडिडेट्स चुने हैं उनमें दूसरी पार्टियों को छोड़कर आए लोग भी हैं। उनको भी टिकट दे दिया। पार्टी बने भी दो साल हो गए, इतने सारे लोग जुड़े लेकिन उन्हें छोड़कर दूसरी पार्टियों से आए टिकट दिए गए। सिर्फ जीतने के लिए।’

शांति भूषण ने कहा कि आम आदमी पार्टी बस केजरीवाल की बनकर रह गई है और उन्हें बदलने का वक्त आ गया है। शांति भूषण ने कहा कि पार्टी के बारे में सारे फैसले नैशनल काउंसिल करती है और अब केजरीवाल को बदलने का वक्त आ गया है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल के बिना आम आदमी पार्टी नहीं रहेगी, ऐसा सोचना गलता है।

शांति भूषण ने कहा, ‘केजरीवाल सत्ता के भूखे हो गए हैं। पिछली बार चीफ मिनिस्टर बन गए तो उन्हें लगता है वह फिर से बस दिल्ली के मुख्यमंत्री बन जाएं। उन्होंने पूरे देश में चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया जबकि उन्हें स्टेट्स में चुनाव लड़ना चाहिए था। राष्ट्रपति शासन के दौरान भी उन्होंने कांग्रेस से मिलकर सरकार बनाने की कोशिश की थी।’

शांति भूषण ने दावा किया कि उनके बेटे और पार्टी की पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी के मेंबर प्रशांत भूषण भी उनकी इस राय से सहमत हैं कि केजरीवाल रास्ते से भटक गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here