Home > India News > एमपी सीएम शिवराज से इस्तीफे की मांग

एमपी सीएम शिवराज से इस्तीफे की मांग

file pic

Shivraj Singh Chouhan

डिंडोरी- मध्य प्रदेश के डिंडोरी में 3 दिनों से लगातार हो रही बारिश से जहा नदी नाले उफान पर है तो वही जलाशय भी भर चुके है। जलाशय के आसपास बने मकान डूब क्षेत्र में आ रहे है। जिससे ग्रामीणों की मुसीबत सिर पर बन आई है। आरोप है कि जिस जगह पर एरिगेशन विभाग ने जलाशय बनाया है उस जगह में रहने वाले बैगा परिवारों को मुआवजा तक नहीं दिया गया है।

अब ग्रामीणों की समस्या है कि इस भरी बारिश से एक तरफ जलाशय भर रहा है। वही कच्चे मकान में रहने को मजबूर ग्रामीण और उनके बच्चे कहा आश्रय ले। विभाग की मनमानी के चलते न तो मुआवजा मिला और न ही सही जगह। ऐसे में ग्रामीणों ने सरकार से सहायता की गुहार लगाई है।

इस मसले को लेकर डिंडौरी के कांग्रेस विधायक ओमकार मरकाम ने भी जिला प्रशासन और एरिगेशन विभाग से अनुरोध किया था लेकिन एक जनप्रतिनिधि की भी नहीं सुनी गई। इस बात से नाराज विधायक ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से इस्तीफा माँगा है। ये पूरा मामला है डिंडौरी मुख्यालय से महज 10 किलो मीटर की दूरी में बने गोपालपुर गाव के एरिगेसन जलाशय का है।

गोपालपुर गाव के किसान भागवत सिंह इनका आरोप है कि पहले एरिगेशन विभाग ने यह झूठ कह कर जलाशय बना दिया कि इनका मकान डूब क्षेत्र में नहीं आएगा। वही जलाशय बनने के बाद आसपास रहने वाले बैगा परिवारों को मुआवजा भी नहीं दिया गया। अब लगातार बारिश का कहर जारी है जलाशय का पानी भागवत सिंह के घर पर दस्तक दे चूका है।

इस बात की जानकारी भागवत सिंह ने फ़ोन पर विभाग को दी कि जलाशय का पानी छोड़ा जाए लेकिन जानकारी देने के बाद भी कोई ध्यान अधिकारियो द्वारा नहीं दिया जा रहा है। वही गोपालपुर जलाशय में भराव के चलते गाव की सड़के जलमग्न हो गई है। स्कूल भी डूबने की कतार में है।

मामला यही नहीं थमता एरिगेशन विभाग ने गाव में ही जो नहर का निर्माण इसी साल किया था। उसका भी फ़ायदा गाव के किसानो को नहीं मिल रहा है। आरोप है कि नहर बनांने के लिए आसपास के ग्रामीणों के खेतो को चिन्हांकित किया गया और लापरवाह तरीका से बिना साइड पिच्चिंग के नहर खोद दी गई। अब पहली बारिश में ही नहर धसकने लगी जिसकी चिंता किसान कामता यादव को सताने लगी है हद तो तब हुई की किसान की जमीन नहर निर्माण के लिए ले ली गई लेकिन मुआवजा का एक रुपया भी इस गरीबो को नहीं दिया गया।

गाव के ही एक किसान के घर पर नहर के पानी ने कल देर रात कहर बरपा दिया। इस साल की कड़ी महनत की कटी धान की फसल फसल पानी में बह गई। अब किसान को अपनी और परिवार की चिंता सता रही है। गाव में जलाशय के भरने से जहा ग्रामीणों को अपने आशियाने डूबने का डर है तो वही बारिश से बर्बाद हुई गृहस्ती की चिंता। वही लापरवाही पर डिंडौरी विधायक ओमकार मरकाम ने आरोप लगाते हुए सरकार से इस्तीफा की मांग की है।
रिपोर्ट- @दीपक नामदेव




Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .