Home > India News > यूपी: तीर्थस्थलों को विशेष अनुदान, विधानसभा में लगेगा ‘योगी’ का चित्र

यूपी: तीर्थस्थलों को विशेष अनुदान, विधानसभा में लगेगा ‘योगी’ का चित्र

लखनऊ: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में सोमवार को शीतकालीन सत्र के दौरान सरकार ने 2017-18 का पहला अनुपूरक बजट पेश किया। यह बजट 11388.17 करोड़ रुपये का है। इस बजट में कैलाश मान सरोवर भवन से लेकर भगवान् श्रीराम से जुड़े तीर्थ स्थल चित्रकूट और बाबा विश्वनाथ के काशी नगरी स्थित पौराणिक महत्त्व वाले मंदिर तक का ध्यान विशेष रूप से रखा गया है।

बजट में खास प्रावधानों के मुताबिक पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 40 करोड़ रुपये से गंगा से विश्वनाथ मंदिर तक सड़क चौड़ीकरण का कार्य किया जाएगा। वहीं स्कूली बच्चों के स्वेटर के लिये 390 करोड़ के अलावा कोर्ट में वादों की जल्द पैरवी के लिए अधिवक्ताओं की फीस भुगतान के लिए और बुनकरों के बिजली बिल में छूट के लिए भी बजट की व्यवस्था की गई है। यहीं नहीं दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना के लिए 58 करोड़ और अंतरष्ट्रीय बौद्ध संस्थान के लिए 1.3 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

साथ ही आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे के बाकी बचे काम तथा पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लिए करीब 173 करोड़ रुपये का प्रावधान अनुपूरक बजट में किया गया है। साथ ही गन्ना भुगतान के लिए 200 करोड़, जेलों में बिजली बिल के भुगतान के लिए 7 करोड़ और एटीएस व एसटीएफ समेत पुलिस महकमे के लिए 164 करोड़, मेडिकल कॉलेजों के लिए 425 करोड़, नागरिक उड्डयन विभाग को 200 करोड़, ईवीएम मशीनों की मरम्मत के लिए 10 करोड़, चित्रकूट में रामघाट समेत पर्यटन स्थलों के लिए 12 करोड़, अल्पसंख्यकों के लिए 84 करोड़, बेसिक शिक्षा के लिए 451 करोड़, जिला मुख्यालय 4 लेन के लिए व स्टेट हाइवे के लिए 16 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

वहीं स्वच्छ भारत मिशन में 522 करोड़, कैलाश मानसरोवर भवन के लिए करीब 11 करोड़, प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए 1125 करोड़, बाढ़ नियंत्रण और सिंचाई के लिए 240 करोड़ रुपये की व्यवस्था बजट में की गई है।

कांग्रेस ने उठाया खनन मामले में कोर्ट के आदेश का मुद्दा

कांग्रेस के विधानसभा नेता अजय कुमार लल्लू ने कहा कि विधानसभा में नियम 356 के तहत दो जिलाधिकारियों के खिलाफ खनन के मामले में कोर्ट ने आदेश जारी किया। इसका मुद्दा उठाया गया। उन्होंने कहा कि ऐसे अधिकारियों को मुख्यमन्त्री ने अपने जिले में तैनाती दे रखी है। उत्तराखण्ड कैडर के अधिकारियों से मुख्यमंत्री को इतना प्रेम है कि उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। इसलिए पार्टी के सदस्यों ने सदन से बहिर्गमन किया है।

39 लाख से लगेगा विधानसभा में ‘योगी’ का चित्र
विधानसभा की आर्ट गैलरी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का तैल चित्र लगेगा। इसके लिये 39 लाख रुपए का अनुपूरक बजट में प्रावधान किया यगा है। इस गैलरी में अखिलेश यादव, मायावती और मुलायम सिंह यादव सहित सभी पूर्व सीएम की पेंटिंग लगी हुई है।

रिपोर्ट @शाश्वत तिवारी

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com