कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज अस्पताल से भागे, पुलिस ने की नाकाबंदी

नागपुर : चीन में करीब तीन महीने पहले दस्तक देने वाले कोरोना वायरस ने अब भारत की भी परेशानी बढ़ा दी है। भारत में कोविड-19 (COVID-19) के संक्रमण से अबतक दो लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 82 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं।

इसी बीच खबर आ रही है कि महाराष्ट्र के नागपुर में अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस के पांच संदिग्ध मरीज अस्पताल से भाग गए हैं। देर रात हुई इस घटना के बाद शहर में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। मरीजों की तलाश जारी है।

जानकारी के मुताबिक, नागपुर के इंदिरा गांधी गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (मायो) से कोरोना वायरस के पांच संदिग्ध भाग गए।

इन सभी को संक्रमण के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कोरोना के मरीजों के अस्पताल में भागने की खबर के बारे में जानकारी देते हुए जोनल डीसीपी राहुल मकनिकर ने बताया कि पुलिस को हाई अलर्ट कर दिया गया है और पूरे शहर में नाकेबंदी कर दी गई है। संदिग्धों की अभी स्थिति क्या थी अभी इसकी पुष्टि अभी नहीं हो सकी है।

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से संक्रमित 17 मरीजों की पुष्टि की जा चुकी है। गौरतलब है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक 5,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि दुनियाभर में 1,34,300 से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं।

कोरोना वायरस की चपेट में आने से भारत में भी दो लोगों की मौत हो चुकी चुकी है। साथ ही भारत में इससे संक्रमित लोगों की संख्‍या 82 पहुंच गई है। अमेरिका में आपातकाल की घोषणा भी कर दी गई है।

भारत में कोरोना वायरस के कारण शुक्रवार को दूसरी मौत हुई है। साथ ही संक्रमितों की संख्‍या 82 पहुंच गई है।

अमेरिका में भारतीय दूतावास ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए भारत द्वारा हाल ही में लागू की गई यात्रा पाबंदियों पर सवालों का जवाब देने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं जिन पर चौबीसों घंटे संपर्क किया जा सकता है।

भारत में सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया ने इटली, फ्रांस, जर्मनी, स्पेन, इस्राइल, दक्षिण कोरिया और श्रीलंका के लिये संचालित की जाने वाली उड़ानों को 30 अप्रैल तक बंद रखने का फैसला किया है।