Home > India News > सिर्फ महिला टीचरों को लूटता था यह गैंग, 3 अरेस्ट

सिर्फ महिला टीचरों को लूटता था यह गैंग, 3 अरेस्ट

Teachers robbed case In Amethiअमेठी- महिला टीचर्स को टारगेट करते हुए लूट को अंजाम देने वाले लूटेरे पुलिस के हत्थे चढ़ गए। बता दें कि अमेठी में बीते वर्ष 26 दिसम्बर 2016 को संग्रामपुर थाना क्षेत्र और 27 दिसम्बर 2016 दिसम्बर को ही मुसाफिरखाना कोतवाली में हुई थीं। अध्यापिकाओ से लूट की घटना का पुलिस ने खुलासा कर दिया। अपराधियो के पास से मय असलहे सहित अन्य सामान बरामद भी हुआ है। पुलिस ने पकड़े गए लुटेरों को जेल भेज दिया।

लूट की इन तबड़तोड़ घटनाओं से अमेठी पुलिस के हाथ पाँव फूल गये जिसको देखते हुए अमेठी के पुलिस कप्तान संतोष कुमार सिंह द्वारा कड़े निर्देश दिए गये। अपर पुलिस अधीक्षक श्री त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी तथा सर्विलांस/स्वाट टीम प्रभारी सुनील कुमार यादव व प्रभारी निरीक्षक श्री सी0पी0 जैसल थाना संग्रामपुर को लगाया गया।

ऐसे आये आरोपी पुलिस की गिरफ्त में
उक्त लुटेरों को पकड़ने हेतु स्वाट/सर्विलांस टीम प्रभारी सुनील कुमार यादव मय टीम क्षेत्र में भ्रमणशील थे। मुखबिरखास से सूचना प्राप्त हुई की 03 संदिग्ध व्यक्ति जो लूट करते है टीकरमाफी से चलकर संग्रामपुर चन्डेरिया के रास्ते से जाने वाले है। सूचना के आधार पर स्वाट/सर्विलांस टीम प्रभारी सुनील कुमार यादव मुखबिरखास को लेकर उक्त स्थान की मय टीम के चले और इस सूचना को तत्काल प्र0.नि0 संग्रामपुर व चैकी प्रभारी टीकर माफी को भी बताया गया तभी एक मोटर साइकिल पर सवार 03 व्यक्ति आते दिखे तो मुखबिर इशारा करके रोका गया तो अपराधी सकपका गये तभी पुलिस द्वारा उक्त मोटर साइकिल पर सवार तीनों व्यक्तियों को घेर कर पकड़ लिया गया।

यह है घटनाक्रम
पुलिस अधीक्षक अमेठी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि पिछली 27 दिसंबर 2016 को मुसाफिरखाना थाना क्षेत्र के ग्राम चकबेहर स्कूल की अध्यापिका से मारपीट कर सोने की चेन व मोबाइल लूट कर अज्ञात लुटेरे फरार हो गए थे।
इस सम्बंध में थाना संग्रामपुर में मुकदमा दर्ज कराया गया था।
इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी के कुशल निर्देशन में पुलिस टीम ने तीन अभियुक्तों अनिरूद्व सिंह निवासी पूरे बाछिल पुन्नूपुर संग्रामपुर, विपिन सिंह निवासी शीतलाबक्स का पुरवा संग्रामपुर, मोहित सिंह निवासी अजीत नगर सदर मोड़ कोतवाली को गिरफ्तार किया गया।
पकड़े गए आरोपितों में अनिरूद्व सिंह के पास से लूट का 13000 हजार रुपये, एक 315 बोर तमंचा, दो कारतूस, घटना में प्रयुक्त एक बाईक, एक मोबाइल फोन।
विपिन सिंह के पास से लूट का 18000 रुपये,एक 315 बोर तमंचा, दो कारतूस और एक मोबाइल फोन।
वहीं मोहित सिंह के पास से लूट का 11000 रुपए, एक मोबाइल फोन (कुल 42000 रूपये) बरामद हुआ है।
पकड़े गए आरोपित रैकी करके ग्रामीण इलाकों में अध्यापिकाओं को निशाना बनाकर घूम-घूम के पूरे जिले में लूट की घटनाओं को अंजाम देते थे।

अध्यापिकाएं पहनती हैं जेवर
आरोपियों ने बताया कि स्कूल की टीचर ज्यादातर अकेली रहती है और स्कूल सुनसान स्थान पर रहता है।
अधिकतर स्कूल की मस्टराइन सोने के जेवर पहनती है, जिन्हे लूटने में हम लोगों बहुत आसानी रहती है।
इसी कारण स्कूलों की मस्टराइन को ज्यादा टारगेट करते हैं।
इतना ही नहीं यह लुटेरे सूनसान इलाके में तमंचा दिखाकर लोगों के गले की चेन, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, रायबरेली, अमेठी, इलाहाबाद में भी लोगों को निशाना बनाते थे।
पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ कई थानों में दर्जनों मुकदमें दर्ज हैं।
रिपोर्ट- @राम मिश्रा




Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .