श्रद्धाजंलि: अक्सर शहादत वर्दी के हिस्से में आती है - Tez News
Home > India News > श्रद्धाजंलि: अक्सर शहादत वर्दी के हिस्से में आती है

श्रद्धाजंलि: अक्सर शहादत वर्दी के हिस्से में आती है

Tribute- Madhya Pradesh Betul News Updateबैतूल- जिले के एक जवान ने अपनी वीरता का परिचय देते हुए अपनी जान देश के लिए कुर्बानी दे दी। उनकी शहादत को हमेशा लोग याद रखेंगे। अक्सर शहादत वर्दी के हिस्से में आती है। यह उद्गार अजाक थाने में पदस्थ नवागत डीएसपी चौधरी मदन मोहन समर ने दो दिन पहले औरंगाबाद में नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों के लिए रखे गए श्रद्धाजंलि कार्यक्रम में कहें।

शहीद भवन परिसर में स्थित शहीद स्तंभ के सामने सैकड़ा भर से अधिक नागरिकों, युवाओं एवं छात्राओं ने बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति द्वारा आयोजित श्रद्धाजंलि कार्यक्रम में शहीदों को श्रद्धाजंलि अर्पित की। ज्ञात हो कि दो दिन पहले औरंगाबाद में नक्सिलियों द्वारा बिछाई गई बारुदी सुरंग की चपेट में आने से जिले की मुलताई तहसील के परमंडल ग्राम के कोबरा कमांडों मनोज चौरे शहीद हो गए थे। उनके अलावा नक्सिलियों के विरुद्ध चलाएं जा रहे आपरेशन में सीआरपीएफ के 9 अन्य जवान शहीद हो गए। संस्था अध्यक्ष गौरी बालापुरे पदम ने शहीद मनोज चौरे के संदर्भ में उपस्थित छात्राओं को जानकारी दी।

इस दौरान नगर पालिका अध्यक्ष अलकेश आर्य ने भी शहीदों की शहादत को नमन करते हुए शहीद मनोज चौरे एवं अन्य शहीद जवानों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की। उन्होंने कहा कि इस तरह के हमले निंदनीय है। देश के जवान चाहे मुठभेड़ हो या आतंकी हमले हमेशा वीरता की मिसाल पेश करते आए है।

यातायात प्रभारी ज्योत्सना यादव भी इस दौरान अपनी पूरी टीम के साथ शहीद स्मारक पहुंची एवं श्रद्धांजलि अर्पित की। शहीद भवन के पीछे संचालित छात्रावास की अधीक्षिका सहित छात्राओं ने समिति द्वारा आयोजित श्रद्धाजंलि सभा में पहुंचकर केंडल जलाकर एवं दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धाजंलि दी।

श्रद्धाजंलि कार्यक्रम में समिति की कोषाध्यक्ष पूनम जैन, सचिव भारत पदम, सदस्य रितु यादव, ऋषभ यादव, रजत यादव, वंश पदम, नीलिमा बनकर, वर्चस्व बनकर, पलक बनकर, सुदामा धोटे, अरुण सूर्यवंशी, श्रीमती जमना पंडाग्रे, हर्षित पंडाग्रे, शिवानी सोनारे, संजय मालवीय, हितिशा हेडाऊ, हिमानी हेडाऊ सहित अन्य मौजूद थे।

रिपोर्ट- @अकील अहमद

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com