UP- 7500 करोड़ निवेश का दावा, 22 हजार को रोजगार

make in uttar pradeshलखनऊ – “मेक इन इण्डिया” की सफलता “मेक इन यू0पी0” के बिना सम्भव नहीं है, क्योंकि उत्तर प्रदेश आबादी के लिहाज से देश का सबसे बड़ा राज्य होने के साथ-साथ देश का सबसे बड़ा बाजार भी है।
 
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज यहां अपने सरकारी आवास पर सैमसंग इण्डिया इलेक्ट्राॅनिक्स प्रा0लि0 नोएडा, रिलायंस सीमेन्ट कम्पनी प्रा0लि0 रायबरेली, अलीगढ़ तथा रौजा, श्री सीमेन्ट लि0 बुलन्दशहर, इन्डो-गल्फ फर्टिलाइजर जगदीशपुर, पसवारा पेपर्स लि0 मेरठ, के0के0 मिल्क फ्रेश इण्डिया लि0 कानपुर देहात तथा गैलेण्ट इस्पात लि0 गोरखपुर के प्रतिनिधियों को ‘लेटर आॅफ कम्फर्ट’ दिया।  
 
इस मौके पर बोलते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा लागू की गई उत्तर प्रदेश अवस्थापना एवं औद्योगिक निवेश नीति तथा बुनियादी सुविधाओं के विकास के फलस्वरूप बड़ी संख्या में निजी निवेशक आगे आ रहे हैं। किसानों की प्रगति एवं औद्योगिक विकास के बिना प्रदेश तरक्की के रास्ते पर आगे नहीं जा सकता। इसीलिए समाजवादी सरकार ने इन दोनों क्षेत्रों के विकास के लिए गम्भीरता से नीतियां बनाकर लागू करने का काम किया है, जिसके परिणाम अब दिखायी पड़ रहे हैं।  
 
इसके साथ ही राज्य सरकार की निवेश मित्र नीतियां एवं योजनाएं तथा सड़क, पानी, विद्युत आदि आवश्यक सुविधाओं की बेहतर उपलब्धता का असर साफ दिखायी पड़ रहा है। राज्य को देश की राजनीति की दिशा निर्धारित करने वाला प्रदेश बताते हुए उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने सभी क्षेत्रों में बेहतर कार्य किया है। दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में लेटर आॅफ कम्फर्ट पाने वाली कम्पनी के0के0 मिल्क फ्रेश का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि इस समय यह कम्पनी लगभग 11 लाख लीटर दूध का कलेक्शन कर रही है। इसके अलावा, अमूल सहित और भी कई ब्राण्ड दुग्ध व्यापार के क्षेत्र में आ रहे हैं। इस क्षेत्र की सम्भावनाओं को देखते हुए राज्य सरकार ने कामधेनु डेयरी परियोजना का विस्तार करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि क्रमशः 100, 50 तथा 25 पशुओं की डेयरी स्थापित करने की योजना पहले ही संचालित थी, अब 10 पशु की डेयरी स्थापित करने की सुविधा भी इस योजना के तहत देने की तैयारी की जा रही है।
 
मुख्यमंत्री ने सैमसंग इण्डिया इलेक्ट्राॅनिक्स का हवाला देते हुए कहा कि बहुत कम लोग जानते हैं कि इस कम्पनी के अधिकांश हैण्डसेट उत्तर प्रदेश में ही बनाए जाते हैं। उन्होंने कहा कि यह कम्पनी लगातार अपनी क्षमता विस्तार का प्रयास कर रही है, जिससे प्रदेश के नौजवानों को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर प्राप्त हो रहे हैं।
 
रिपोर्ट :- शाश्वत तिवारी