Home > E-Magazine > संचार माध्यम का उपयोग जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए

संचार माध्यम का उपयोग जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए

gram-vaaniजन जन की वाणी यानि ग्राम्वानी – जन जन से जुड़ने और विकास की खबर , कवितायेँ , कहानियां सुनने के लिए जुड़े मध्य प्रदेश मोबाइल वाणी से . मध्य प्रदेश मोबाइल वाणी समाज के अंतिम व्यक्तियों के मुद्दे आम जन , हित धारक , प्रशासन और निति निर्धारक तक पहुँचाना है , विकास के मुद्दों पर सामाजिक स्तर पर विचार विमर्श को बढ़ावा देने की एक पहल है. आम जन समुदाय से जूरी बातें , विकास के मुद्दे पर खबर , लोगों की राय ,इंटरव्यू रिकॉर्ड करने के लिए 08800438555 पर मिस्ड कॉल करें.

उद्देश्य :
ग्राम्वानी का मुख्या उद्देश्य मोबाइल वाणी के जरिये समाज के वंचित तबकों यानी हाशिये पर रह रहे लोगों द्वारा सूचना का आदान- प्रदान मैं गति प्रदान करना . अधिकार के रूप में संचार माध्यम का उपयोग जिंदगी को बेह्टर बनाने के लिए करना है .

मोबाइल वाणी देश के दूर दराज के छेत्रों मैं रह रहे लोगों को मोबाइल वाणी के माध्यम से सूचना पहुँचाने और उनकी विकास के मुद्दे जो कभी भी मीडिया के लिए मुद्दा नहीं होता उन मुद्दों पर समाज को प्रेरित करना की वो अपने मुद्दे पर खुद समाज की और से रिपोर्ट तैयार करें और मोबाइल वाणी के श्रोताओं के साथ साझा करें ताकि उन मुद्दों पर विचार विमर्श शुरू हो और अंतत: उन मुद्दों पर विकास के लिए हितधारक ,प्रशासन, निति निर्धारक ठोस कदम उठाये.

कार्य करने की तरीके :
ग्राम वाणी ग्रामीण छेत्र और छोटे शहरी छेत्रों मैं , सामाजिक संस्थाओं , पंचायतों , स्कूलों कालेजों के माध्यम से समाज के जागरूक लोगों की पहचान करना और उनकी छमता वर्धन कर विकास के मुद्दों पर रिपोर्ट , लेख , इंटरव्यू इत्यादि लेने के लिए तैयार करना और मोबाइल वाणी पर आये ख़बरों को हितधारकों तक पहुँचाने और समज को प्रेरित करना जिससे सामाजिक स्तर पर समुदायों को बदलाव के लिए प्रेरित करना है . ये सभी कार्य करता स्वेक्षिक भाव से समाज के विकास के लिए मोबाइल वाणी का प्रयोग खुद करते हैं और इसके फैलाव के लिए लोगों के साथ सामुदायिक बैठक के माध्यम से और लोगों को इस कार्यक्रम मैं शामिल होने के लिए प्रेरित करते हैं
.
मध्य प्रदेश मोबाइल वाणी:
ग्राम्वानी द्वारा सर्व प्रथम मोबाइल वाणी की शुरुआत झारखण्ड राज्य से हुई , कार्यक्रम को मिली अपार सफतलाता के बाद बिहार मैं कार्य कर्म शुरू किया . बिहार मैं भी लोगों का योगदान इतना मिला की आज खुद लोगों ने इस कार्य क्रम को सामुदायिक विकास के लिए अपना लिया और जिसका नतीजा यह हुआ की आज बिहार मोबाइल वाणी का सम्पूर्ण संचालन आज स्वयंसेवक ही कर रहे हैं . मध्य प्रदेश मोबाइल वाणी की शुरुआत तक़रीबन ४ महीने पहले हुई और आज २०० से ज्यादा श्रोता नियमित रूप से कॉल करके सुनते हैं और प्रत्येक दिन ३०-३५ खबरें मोबाइल वाणी पर प्रसारित करते हैं. मोबाइल वाणी पर प्रसारित सभी खबरें जन सरोकारों से जुड़े मुद्दे जैसे विद्यालय की पढाई , गाँव की सफाई , अस्पताल की दवाई , सरकारी योजनाओं की हकीक़त , राशन और किरासन -बुजुर्गों -महिलाओं-बच्चों के स्वास्थ और स्वक्षता , खेती –बारी , नौजवानों के शिक्षा ,रोजगार और कला कौशल इत्यादि होते हैं.

लेखक – सुलतान अहमद

Gramvaani Community Media Pvt.Ltd.
Skype-sultancomm1

 

 
 
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com