केंद्रीय मंत्री नकवी बोले- “हम भी देखेंगे” ‘छपाक’

लखनऊ: दीपिका पादुकोण की फिल्म ‘छपाक’ पर जारी विवाद के बीच केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि मौका मिला तो वह भी यह फिल्म देखना चाहेंगे। जेएनयू जाने के बाद बीजेपी नेताओं के निशाने पर आईं दीपिका पादुकोण की फिल्म ऐसिड अटैक सर्वाइवर्स की कहानी है। यूपी की राजधानी लखनऊ पहुंचे वरिष्ठ बीजेपी नेता नकवी ने इस फिल्म के बारे में भी अपनी राय रखी। बताते चलें कि जेएनयू जाने के बाद कई बीजेपी नेताओं ने ‘छपाक’ का बॉयकॉट करने की अपील की, जिसके बाद दीपिका पादुकोण के समर्थन में भी कई लोग उतरे। कई जगहों पर उनकी फिल्‍म के टिकट भी फ्री में बांटे गए। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पहले भी कहा था कि बीजेपी फिल्म का बॉयकॉट नहीं कर रही है।

लखनऊ में बीजेपी मुख्यालय में मीडिया को संबोधित करते हुए मुख्तार अब्बास नकवी ने नागरिकता संशोधन कानून पर विपक्ष को निशाने पर लिया। उन्‍होंने कहा, ‘विपक्षी दलों कांग्रेस और वामपंथी दलों द्वारा जो षड्यंत्र किया जा रहा है, वह पॉलिटिकल पाखंड है। नौजवानों के कंधों पर बंदूक रखकर ये लोग अशांति फैलाकर एक वर्ग विशेष को भ्रमित करके अपनी राजनीति कर रहे हैं।’ उन्होंने सीएए के बारे में कहा कि इसमें कई संशोधन करने के बाद यह बिल लाया गया है। हम चाहते तो जनवरी 2019 में ही इसे पास करा लेते लेकिन तब इस बिल को सिलेक्ट कमिटी को भेजा गया। 7 जनवरी को कमिटी ने अपनी रिपोर्ट दी और 8 जनवरी को यह बिल लोकसभा में पास होकर राज्यसभा को भेजा गया।

नकवी ने आगे कहा, ‘राज्यसभा में यह बिल पेंडिंग पड़ा रहा। फिर जब नई सरकार आई तो इसे दोबारा पास किया गया। इस प्रकार लोकसभा से दो-दो बार पास होने के बाद यह राज्यसभा से पास हुआ और कानून बना। जो लोग भी इस कानून के नाम पर विरोध कर रहे हैं, उन्हें मालूम है कि हिंदुस्तान का कोई नागरिक इस कानून से प्रभावित नहीं है। ना हिन्दू ना मुसलमान कोई भारतीय इस कानून से प्रभावित नहीं होगा। इस देश का मुसलमान यहां कंपल्शन से नहीं, कमिटमेंट से रहता है। कुछ लोग निजी हितों के लिए उन्हें भ्रमित करना चाहते हैं। ये ताकतें कामयाब नहीं होंगी और उनके द्वारा जो भ्रम पूर्ण साजिश की जा रही है, इसका पर्दाफाश भी हो रहा है।’

मंत्री ने कहा, ‘जितने बड़े पैमाने पर लोगों में डर फैलाकर इस कानून के बारे में एक वर्ग को डराया गया, इसका अंदाजा नहीं था। फिर भी सरकार ने देश विरोधी ताकतों के द्वारा फैलाये जा रहे भ्रम के खिलाफ कमर कसी और आज देश को पता है कि किसी भारतीय पर इस कानून का कोई प्रभाव नहीं होगा।’ फिल्म छपाक के बारे में उन्होंने कहा कि जब उन्हें समय मिलेगा तो वह भी ‘छपाक’ फिल्म को देखना चाहेंगे।