दिल्ली के छावला स्थित एक शेल्टर होम में महिला ने छेड़छाड़ और उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगाए हैं। महिला आयोग के दखल के बाद इस संबंध में छेड़छाड़ समेत अन्य धाराओं में मामला भी दर्ज कर लिया गया है।

शेल्टर होम में रहने वाली 50 वर्षीय महिला ने आरोप लगाया है कि उससे पुरुष कर्मचारियों के सामने कपड़े उतरवाने के लिए कहा जाता था।

इसके अलावा उसके निजी अंगों पर कर्मचारी नमक और मिर्च भी डालते थे। यहां तक उस पर गर्म पानी भी डाला जाता था। पुलिस महिला के आरोपों की छानबीन कर रही है।

दिल्ली महिला आयोग के अनुसार 23 जनवरी को छावला स्थित एक शेल्टर होम में आयोग की टीम ने दौरा किया था।

यहां 50 वर्षीय एक महिला ने मुलाकात के बाद शेल्टर होम के कर्मचारियों पर गंभीर आरोप लगाए। महिला से बातचीत के बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई।

पुलिस ने छानबीन के बाद मामला दर्ज कर लिया। इधर, जांच के दौरान महिला आयोग को पता चला कि शेल्टर होम में जरूरत से ज्यादा महिलाओं को रखा गया है।

इसके अलावा महिलाओं ने कर्मचारियों पर प्रताड़ित करने के आरोप लगाए। महिला आयोग ने शेल्टर होम की मान्यता रद्द करने की बात कही है।