लखनऊ के हजरतगंज पुलिस ने एक सामाजिक कार्यकर्ता की तहरीर पर डॉ अयूब के खिलाफ केस दर्ज कर गोरखपुर पुलिस को संदेश दिया। पुलिस के मुताबिक, पर्चों में लिखी बातें बेहद भड़काऊ थीं जिससे धार्मिक भावनाएं भड़क सकती थीं।

उत्तर प्रदेश की पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अयूब के खिलाफ सोमवार को एनएसए (NSA) की कार्रवाई की गई है।

लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने इसकी पुष्टि की है। डीएम ने कहा कि डॉ अयूब पर यह कार्रवाई धार्मिक भावनाएं भड़काने और कानून-व्यवस्था के लिए खतरा पैदा करने के चलते की गई है।

अयूब को बकरीद से एक दिन पहले 1 अगस्त को गोरखपुर से गिरफ्तार किया गया था। दरअसल लखनऊ में हजरतगंज पुलिस ने पीस पार्टी के अध्यक्ष डॉ अयूब पर मुकदमा दर्ज किया गया था।

उन पर उर्दू के अखबारों में भड़काऊ बयान वाला पोस्टर छपवाने पर पुलिस ने ये मुकदमा दर्ज किया था। 153a, 505 और आईटी एक्ट में ये एफआईआर दर्ज की गई है।

लखनऊ में हजरतगंज के सब इंस्पेक्टर केके सिंह ने ये मुकदमा दर्ज कराया था। उनके ऊपर धार्मिक भावनाओं को आहत करने और सांप्रदायिक हिंसा फैलाने के आरोप में केस दर्ज किया गया है।

जानकारी के अनुसार गोरखपुर पुलिस को लखनऊ पुलिस से मिले संदेश के बाद बड़हलगंज पुलिस ने डॉ अयूब को उनके क्लीनिक से गिरफ्तार कर लिया।

आरोप है कि डॉ। अयूब ने लखनऊ के उर्दू अखबार में विज्ञापन प्रकाशित कराया, जिसमें कई आपत्तिजनक बातें कही गईं।

लखनऊ के हजरतगंज पुलिस ने एक सामाजिक कार्यकर्ता की तहरीर पर डॉ अयूब के खिलाफ केस दर्ज कर गोरखपुर पुलिस को संदेश दिया। पुलिस के मुताबिक, पर्चों में लिखी बातें बेहद भड़काऊ थीं जिससे धार्मिक भावनाएं भड़क सकती थीं।