सिंधिया ने फिर साधा कमलनाथ पर निशाना, शिवराज सिंह चौहान का किया बखान

सिंधिया ने कहा, ‘जब कमलनाथ मुख्यमंत्री थे तब उनके पास राज्य में कोविड-19 की स्थिति को लेकर बैठक करने का समय नहीं था लेकिन उनके पास आईफा अवार्ड में शामिल होने के लिए इंदौर जाने का समय था।भोपाल : मध्यप्रदेश में भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक बार फिर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ पर निशाना साधा है। सिंधिया ने कमलनाथ पर आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री रहते हुए उनके पास कोरोना वायरस पर बैठक करने का समय नहीं था लेकिन आईफा अवार्ड में जाने का समय था। एक समय कांग्रेस का हिस्सा रहे सिंधिया अपने पुराने साथी कमलनाथ पर हमला करने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं।

सिंधिया ने कहा, ‘जब कमलनाथ मुख्यमंत्री थे तब उनके पास राज्य में कोविड-19 की स्थिति को लेकर बैठक करने का समय नहीं था लेकिन उनके पास आईफा अवार्ड में शामिल होने के लिए इंदौर जाने का समय था। ऐसी स्थिति में एक फाइटर (शिवराज सिंह चौहान) सामने आया और 23 मार्च को उन्होंने राज्य की कमान अपने हाथों में संभाली और राज्य का अकेले दम पर नेतृत्व करते हुए इस वैश्विक महामारी का सामना किया।’

बता दें कि मध्यप्रदेश भाजपा ज्योतिरादित्य सिंधिया पर खासी मेहरबान है। हाल ही में हुए राज्य कैबिनेट के बंटवारे में भी कई अहम विभाग सिंधिया खेमे के नेताओं को दिए गए हैं। कहा तो यह भी जा रहा है कि सिंधिया के समर्थकों को विभागों का बंटवारा उनकी पसंद के आधार पर किया गया है। राजस्थान में राजनीतिक संकट के दौरान सचिन पायलट को लेकर उन्होंने कहा था कि सचिन पायलट की स्थिति देखकर दुखी हूं। इससे साफ होता है कि कांग्रेस में योग्यता और काबिलियत के लिए कोई जगह नहीं है।