नई दिल्ली- आम बजट फरवरी में पेश किये जाने को लेकर राजनितिक हलचल कुछ भी हो इसमें हर वर्ग को क्या फायदा हुआ है ठीक है लेकिन युवा पीढ़ी स्कूली पढ़ाई पुरी कर चुके युवा अपनी आगे की पढ़ाई और नौकरी को लेकर सोचने लगते हैं। ऐसे में हम आपके लिए आम बजट-2017-18 की वो बातें लेकर आए हैं जो आपके कॅरिअर को बढ़ाने में मददगार होंगी।

1. उच्च शिक्षा के लिए अमेरिका की तर्ज पर राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी बनेगी: अब तक देश में निजी और सरकारी इंजीनियरिंग, मेडिकल, एमबीए, एमसीए कोर्स में दाखिले के लिए अलग-अलग यूनिर्वसिटी और कॉलेजों की परीक्षा देनी होती है। कई बार तो छात्रों को इन कॉलेजों के एडिमशन आवेदन फॉर्म भरने में ही काफी पैसे खर्च हो जाते हैं। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी बन जाने से एक छात्र-छात्राओं को एक ही परीक्षा देने से रैंक के आधार पर कॉलेज या संस्थान में एडमिशन मिल जाएगा।
2. स्कूलों के लिये नया सालाना शिक्षा कार्यक्रम: देश में स्कूली शिक्षा का स्तर लगातार गिर रहे हैं। यह कार्यक्रम उसे बेहतर बनाएगा।
3. सेकेंडरी एजुकेशन को अलग से प्रोत्साहित करने के लिए फंड की व्यवस्था: सरकारी हाईस्कूलों की स्थिति सुधारी जाएगी।
4. 100 इंडिया स्किल सेंटर स्थापित किये जाएंगे: ये केंद्र युवाओं को स्वरोजगार शुरू करने की ट्रेनिंग देंगे।
5. टेक्स्टाइल सेक्टर में रोजगार प्रदान करने के लिए अलग से योजना: अगर आप 12वीं की पढ़ाई कर चुके हैं तो टेस्टटाइल क्षेत्र के विकल्प को चुन सकते हैं, क्योंकि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस क्षेत्र में कई योजनाएं शुरू करने की बात कही है।
6. डेयरी विकास के लिए 8000 करोड़ रुपये: ऐसे में अगर आप स्वरोजगार शुरू करने की सोच रहे हैं तो डेयरी को चुन सकते हैं।
7. भारत नेट प्रोजेक्ट के लिए 10 हजार करोड़ रुपए अलॉट: आज के दौर में युवाओं के लिए सबसे जरूरी इंटरनेट सेवा को बढ़ाने के लिए वित्त मंत्री ने इस पर मोटी रकम खर्च करने का ऐलान किया है।
8. डेढ लाख गांवों में ब्रॉडबैंड सेवा पहुंचाई जाएगी: अगर आप देश के देहाती इलाकों से आते हैं तो ये सेवा आपके काम आ सकती है।
9. गुजरात और झारखंड में एम्स: अगर आपने 12वीं के बाद मेडिकल की पढ़ाई करने की सोची है तो आपके लिए खुशखबरी है। देश में दो और एम्स खुलने वाला है।
10. डाकघरों में बनेंगे पासपोर्ट: विदेश में पढ़ाई करनी हो या नौकरी की तलाश, युवाओं को सबसे ज्यादा पासपोर्ट की जरूरत होती है। डाकघरों में पासपोर्ट बनना शुरू होने से युवाओं को काफी राहत मिलेगी। [एजेंसी]