Home > Crime > कार्टून छापने वाली मैगजीन के ऑफिस पर आतंकी हमला

कार्टून छापने वाली मैगजीन के ऑफिस पर आतंकी हमला

FRANCEपैरिस – पैरिस में एक मैगजीन के ऑफिस पर बंदूकधारियों के हमले में कई लोगों के मारे जाने की खबर है। फ्रेंच मीडिया के मुताबिक यह हमला ‘शार्ली एब्दो’ नाम की मैगजीन के ऑफिस पर हुआ है, जिसमें 12 लोगों के मौत हो गई है। मरने वालों में दो पुलिसवाले भी शामिल हैं।शार्ली एब्दो एक व्यंग्यात्मक मैगजीन है और यह साल 2012 में पैगंबर मोहम्मद का कार्टून बनाने की वजह से भी चर्चा में रही थी। हाल ही में मैगजीन ने आतंकी संगठन आईएस के चीफ अबु बकर अल-बगदादी का भी कार्टून छापा था।

फ्रांस के शहर पेरिस में चार्ली हेबडो पब्लिकेशन हाउस के दफ्तर पर हुए आतंकी हमले में 10 पत्रकारों सहित 12 लोगों की मौत हो गई है. फ्रेंच मीडिया के मुताबिक मरने वालों में 2 पुलिसकर्मी भी हैं. 5 लोग गंभीर तौर पर जख्मी हैं। इस आतंकी हमले को दो लोगों ने अंजाम दिया है। बताया जा रहा है कि आतंकियों ने रॉकेट लॉन्चर और ऑटोमैटिक बंदूकों की मदद से हमले को अंजाम दिया। हमलावरों ने 50 राउंड से ज्यादा फायरिंग की जिस जगह फायरिंग की वारदात हुई है वहां अखबार के दफ्तर के साथ-साथ रिहायशी मकान भी हैं ।

दोनों हमलावर कार हाईजैक करके मैगजीन के दफ्तर तक पहुंचे थे. दोनों ने अपने चेहरे पर ब्लैक मास्क लगा रखा था । दोनों हमलावर अब तक फरार हैं ।

मोहम्मद के अपमान का बदला

फ्रेंच मीडिया का कहना है कि जब हमलावर मैगजीन के दफ्तर में घुसे तब उन्होंने अल्लाहु अकबर का नारा लगाया । हमले को अंजाम देने के बाद हमलावरों ने कहा कि उन्होंने पैगमबर-ए-इस्लाम मोहम्मद साहिब के अपमान का बदला ले लिया है ।

ग़ौरतलब है कि मैगजीन ने अपने कवर पर तीन साल पहले मोहम्मद साहिब का कार्टन छापा था. इसे लेकर साल 2011 में भी चार्ली हेबडो पब्लिकेशन हाउस के दफ्तर पर हमला किया था । चार्ली हेबडो एक व्यंग्य मैगजीन है और इसमें मुस्लिम नेताओं के व्यंग्यात्मक कार्टून छपे थे । खबरें ये भी है कि इस मैगजीन ने आईएसआईएस के मुखिया अबु बक्र अल बगदादी के भी कार्टून छापे थे ।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अखबार के संपादक को पहले ही से हमले की धमकी दी जाती रही है ।

‘आंतकी हमला’

जैसे ही फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसुआ ओलांद को इस हमले की खबर मिली, वो फौरन घनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने कैबिनेट की इमरजेंसी मिटिंग बुलाई। फ्रांसुआ ओलांद ने कहा है कि ये मीडिया के खिलाफ आतंकवादी हमला है.घटनास्थल पर पहुंचे ओलांद ने कहा, “ये एक आंतकी हमला है और इसकी निर्दयता की कोई इंतहा नहीं है. पिछले हफ़्तों में कई आतंकी हमलों को नाकाम किया गया था.” ओलांद ने कहा ने कहा है कि आतंकियों ने पत्रकारों पर हमले किए हैं जिनकी आजादी और स्वतंत्रा फ्रांसीसी गणराज्य ने सुनिश्चित किए हैं ।

प्रतिक्रिया

इस हमले के बाद इस्मामिक जानकार मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा कि इस्लाम किसी के कत्ल की इजाजत नहीं देता और आतंकवादी गतिविधि को मज़हब से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। फिरंगी महली ने कहा कि कुछ लोग भटके हुए हैं और उनकी गतिविधियों को इस्लाम के मुताबिक नहीं कहा जा सकता।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com