Home > India > सीएसपी कर रहे थे एमबीए परीक्षा में नकल ,प्रकरण दर्ज

सीएसपी कर रहे थे एमबीए परीक्षा में नकल ,प्रकरण दर्ज

 इंदौर -सीएसपी नीरज चौरासिया एमबीए की परीक्षा के दौरान नक़ल करते पकडे गए है । सीएसपी वर्दी में ही परीक्षा देने गए थे उन पर आरोप है कि उन्होंने नक़ल करते पकडे जाने पर उन्होंने हंगामा किया और परीक्षा हाल में मौजूद पर्वेक्षक की कालर तक पकड़ ली थी । आईजी इंदौर ने सीएसपी को उनके कार्य क्षेत्र कोतवाली से हटा लिया गया हैं और आईजी कार्यालय पर अटेच कर दिया हैं साथ ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आदित्य सिंह को जाँच सौपी हैं उधर यूनिवर्सिटी प्रशासन ने भी सीएसपी के खिलाफ नक़ल का प्रकरण दर्ज कर लिया हैं ।

आईएमएस में बुधवार को एमबीए की परीक्षा में सीएसपी नकल करते पकड़े गए। पर्यवेक्षक ने नकल प्रकरण बनाने की प्रक्रिया शुरू की तो उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। आईएमएस प्रबंधन घटना की जानकारी कुलपति को देकर कार्रवाई की मांग करेगा। डीएवीवी के आईएमएस से कई अधिकारी एमबीए एक्जीक्यूटिव कोर्स कर रहे हैं। बुधवार को सेकंड सेमेस्टर में मार्केटिंग मैनेजमेंट का पेपर था। इसमें सीएसपी नीरज चौरसिया और सीएसपी शशिकांत कनकने परीक्षा दे रहे थे। इनविजिलेटर ने देखा, सीएसपी चौरसिया नकल कर रहे हैं। उन्होंने इसकी जानकारी असिस्टेंट एक्जाम सुपरिटेंडेंट पीयूष केंदुरकर को दी।

केंदुरकर ने चौरसिया से नकल करने से रोका। इस पर वे वहां मौजूद अफसरों को अपना परिचय सीएसपी के रूप में देकर धमकाने लगे। इस बीच केंदुरकर ने नकल प्रकरण बनाने की कोशिश की तो हॉल में ही परीक्षा दे रहे सीएससी शशिकांत कनकने भी चौरसिया के पक्ष में खड़े हो गए। पर्यवेक्षक ने उन्हें नकल प्रकरण पर साइन करने को कहा तो उन्होंने साफ मना कर दिया। इसकी जानकारी निदेशक डॉ.पीएन मिश्रा को लगी तो वे भी परीक्षा हॉल में पहुंचे। उन्होंने दोनों अधिकारियों को कार्रवाई में सहयोग के लिए कहा। बावजूद इसके उन्होंने परीक्षा दी और चले गए।

सीएसपी ने इसमें सहयोग नहीं किया
सीएसपी चौरसिया के नकल करते पकड़े जाने पर हम तो नियमानुसार कार्रवाई कर रहे थे। सीएसपी ने इसमें सहयोग नहीं किया। हम मामले की जानकारी कुलपति को दे रहे हैं। उनके निर्देशानुसार ही अगली कार्रवाई करेंगे।
-डॉ.पीएन मिश्रा, निदेशक, आईएमएस

नकल की बात गलत
मैं परीक्षा देने गया था। एक प्यून डिस्टर्ब कर रहा था। मैंने उसे टोका तो विवाद करने लगा। मैंने उसे परिचय दिया और परीक्षा देने के बाद कॉपी इनविजिलेटर को जमा करने के बाद लौट आया। नकल की बात सरासर गलत है। वैसे भी मैं अनुभव के लिए एमबीए कर रहा हूं। यदि इस तरह के आरोप लगाते हैं, तो मैं वहां अगली परीक्षा देने नहीं जाऊंगा।
– नीरज चौरसिया, सीएसपी

रिपोर्ट – शाहबाज़ खान

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com