35ए को लेकर मरते दम तक इसके लिए लडूंगा : फारूक अब्दुल्ला

0
10

जम्मू : जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और सांसद फारूक अब्दुल्ला ने 35ए को लेकर दिए बयान में कहा कि मरते दम तक इसके लिए लडूंगा। उन्होंने कहा कि इसके साथ हुई छेड़छाड़ के बाद हालात काफी बिगड़ जाएंगे।

राज भवन में शपत ग्रहण समारोह के बाद पत्रकारों से बात करते हुए फारूक ने कहा कि मैं अपनी ओर से जम्मू-कश्मीर की पहली महिला चीफ जस्टिस गीता मित्तल को बधाई देता हूं और उम्मीद हैं कि उनका कार्यकाल अच्छा रहे। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि कानून की हर कोई पोस्ट सेंसिटिव होती है और हम उम्मीद करेंगे कि यह लोगों को इन्साफ देंगी।

इस बीच 35ए को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में पहले तो फारूक ने कहा कि 35ए को मारिये गोली, 35ए तो चलता जाएगा। लेकिन जब बाद में पत्रकारों ने उनसे पुछा कि उन्होंने यह किस संदर्भ में कहा तो उन्होंने कहा कि 35ए को वह छेड़ नहीं सकते। पहले भी दो बार संवैधानिक खंडपीठ ने इसको लेकर बयान दिया हुआ है। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं समझ आती कि यह बार-बार क्यों मसले को कुरेदते हैं, जितना यह कुरेदेंगे उतना खून बहेगा। डॉ फारूक ने कहा कि मुझे लगता है वक्त आ गया है कुरेदना छोड़ देना चाहिए।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उनको सिर्फ कश्मीर याद रहता है। हिमाचल, अरुणाचल और नागालैंड के साथ कभी भी छेड़छाड़ नहीं की जाती खाली कश्मीर याद रहता है। उन्होंने यह भी कहा कि जब तक मैं कब्र में नहीं जाऊंगा तब तक मैं लड़ता रहूंगा। अगर इसके साथ छेड़छाड़ हुई तो वो हाल आप भी देखेंगे, दिल्ली भी देखेगी और फिर उनको संभालना मुश्किल हो जाएगा।

गौरतलब है कि हकूमत बनने की प्रक्रिया को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मुझे हकूमत के बारे में कुछ मालूम नहीं, जो चाहे वो बना सकता है। उन्होंने कहा कि जब भी चाहे इलेक्शन हो हम तैयार हैं।