Home > Election > पंचायत चुनाव में कागजात के नाम पर सौ करोड़ की लूट !

पंचायत चुनाव में कागजात के नाम पर सौ करोड़ की लूट !

 elections

भोपाल [ TNN ]म.प्र. में पंचायत चुनाव के प्रक्रिया विधानसभा और लोकसभा चुनाव की तरह कठिन कर दी गई है, जिसके चलते लगभग २३ हजार ग्राम पंचायतों और ३१३ जनपद पंचायतों और ५० जिला पंचायतों के चुनाव में अपना भाग्य अजमाने वाले लगभग ७ से 8 लाख उम्मीदवार शपथ-पत्र बनवाने पर 100 करोड़ रुपए से उपर की राशी खर्च कर चुके होंगे| एक शपथ-पत्र के नोटरी करने के उम्मीदवार को ७ सौ से एक हजार रुपए लग रहे है|

घोषणा पत्र के अलावा अगर जाति प्रमाण पत्र और बिजली विभाग के अदेय प्रमाण पत्र बनवाना हो तो तीन शपथ-पत्र के लिए यह राशी डेढ़ हजार तक पहुँच जाती है| इसके अलावा फार्म भरने के लिए दुनिया भर के कागजात जमा करने में जो खर्च करो वो अलग; जैसे, बैंक का बकाया आदि| समाजवादी जन परिषद (सजप) , श्रमिक आदिवासी संगठन किसान आदिवासी संगठन ने म. प्र राज्य चुनाव आयोग के आयुक्त से इस समबन्ध में अविलम्ब दखल की मांग कर नाम निर्देशन केंद्र पर कम से कम शपथ पत्र की जाँच और एक निश्चित शुल्क का भुगतान कर नोटरी की व्यवस्था करने की मांग की|

श्रमिक आदिवासी संगठन और किसान आदिवासी संगठन से जुड़े आदिवासी नेता मंगलसिंग और फागराम ने कहा की गरीब आदिवासी जो अनपढ़ है और गरीबी रेखा के नीचे जीवन-यापन करते है, उनके लिए पंचायत चुनाव की प्रक्रिया काफी जटिल और खर्चीली करना सर्वथा अनुचित है| सजप के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र गढ़वाल और राष्ट्रीय सचिव अनुराग मोदी ने कहा कि पंचायत चुनाव को गांधीजी की पंचायत राज्य व्यवस्था की परिकल्पना के अनुरूप ढालने की जरुरत है|

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com