तो क्या तीन लाख फर्जी वोटर से चुनाव जीते मोदी - Tez News
Home > India > तो क्या तीन लाख फर्जी वोटर से चुनाव जीते मोदी

तो क्या तीन लाख फर्जी वोटर से चुनाव जीते मोदी

modiनई दिल्ली [TNN ] जिस वाराणासी संसदीय सीट से नरेंद्र मोदी ने 371784 वोटों से जीत हासिल की है, वहां 311057 फर्जी वोटर मिले हैं। जिला प्रशासन का अनुमान है कि फर्जी वोटरों की संख्या 647085 जा सकती है। इतनी बड़ी संख्या में फर्जी वोटर पहली बार वाराणसी में सामने आए हैं। लाखों की तादाद में मिले फर्जी वोटरों का खुलासा तब हुआ जब भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर जिला प्रशासन ने मतदाता सूची का पुनरीक्षण अभियान शुरू किया। जिले के सभी पोलिंग सेंटर पर तैनात बूथ लेवल ऑफिसर से घर-घर जाकर मतदाताओं का सत्यापन करवाने के बाद इन बोगस वोटरों का खुलासा हुआ है।

वाराणसी संसदीय सीट पर हुए चुनाव में बीजेपी उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल को 371784 वोटों के अंतर से हराया था। तीसरे नंबर पर कांग्रेस उम्मीदवार अजय राय (75614), चौथे स्थान पर बीएसपी के विजय प्रकाश जायसवाल (60579) और पांचवें स्थान पर एसपी के कैलाश चौरसिया 45291 वोट पाकर रहे थे।

इस खुलासे पर आम आदमी पार्टी ने नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी को निशाने पर लेते हुए तीखी आलोचना की है। पार्टी के फेसबुक पेज पर यह पोस्ट डाली गई है

नरेंद्र मोदी की भारी मतों से जीत को लेकर गैर बीजेपी दल तरह-तरह के आरोप लगाते रहे हैं। मोदी पर मतदाताओं को उपहार बांटकर प्रभावित करने के साथ-साथ घोषणा पत्र में पत्नी जशोदा बेन के आय का ब्यौरा न देने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस के उम्मीदवार अजय राय ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी से निर्वाचन को चुनौती देते हुए याचिका दायर की है। हाईकोर्ट में इस पर सुनवाई चल रही है।

इस बीच भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर पहली जनवरी 2015 को 18 साल की उम्र पूरी करने वाले युवाओं का नाम वोटर लिस्ट में जोड़ने व मतदाताओं के सत्यापन का काम चला। इस दौरान लाखों की संख्या में फर्जी वोटर सामने आए हैं। जिला प्रशासन ने तीन लाख से ज्यादा जिन फर्जी वोटरों की अभी तक शिनाख्त की है, वे एक ही विधानसभा क्षेत्र की सूची में दो जगह अपना नाम दर्ज कराने वाले थे। पुनरीक्षण अभियान के दौरान पकड़े गए 311057 वोटरों का नाम अब मतदाता सूची से कटने जा रहा है। 5 जनवरी 2015 को भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर नई वोटर लिस्ट का प्रकाशन करने जा रहा है।

ऐसे पकड़े गए फर्जी वोटर

फर्जी वोटरों का नाम काटने के साथ नए मतदाताओं का नाम जोड़ने के लिए जिले की 8 विधानसभा क्षेत्रों के 1136 पोलिंग सेंटरों के 2553 पोलिंग बूथ पर तैनात 2553 बूथ लेवल ऑफिसरों ने घर-घर जाकर वोटरों का सत्यापन किया। इस सत्यापन के दौरान फर्जी वोटरों को पकड़ा गया। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी दया शंकर उपाध्याय ने बताया कि सबसे ज्यादा 81697 फर्जी वोटर कैंट विधानसभा क्षेत्र में पकड़े गये हैं। पिंडरा विधानसभा क्षेत्र में 35982, अजगरा में 15285, शिवपुर में 10981, रोहनिया में 19659, शहर उत्तरी में 70684, शहर दक्षिणी में 69397 और सेवापुरी में 7372 फर्जी वोटर पकड़े गे हैं। इनका नाम वोटर लिस्ट से बाहर किया जा रहा है।

फर्जी वोटरों की छह लाख से ज्यादा

मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान के दौरान वाराणसी संसदीय सीट पर 311057 फर्जी वोटर पकड़ने के बाद भी अभी बड़ी संख्या में यह वोटर लिस्ट में मौजूद है। जिला प्रशासन का कहना है फर्जी वोटरों की संभावित संख्या 647085 है। जिला प्रशासन की माने तो पिंडरा में 112160, अजगरा में 101456, शिवपुर में 87140, रोहनिया में 84757, उत्तरी में 61795, दक्षिणी में 42866, कैंट में 65969 व सेवापुरी में 90942 फर्जी वोटरों की संभावना अभी बनी है।

संभार नवभारत टाइम्स

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com