Home > India News > सड़क पर ईद की नमाज नहीं रोक सकते तो थानों में जन्माष्टमी रोकने का हक नहीं- योगी

सड़क पर ईद की नमाज नहीं रोक सकते तो थानों में जन्माष्टमी रोकने का हक नहीं- योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को पूर्ववर्ती सपा सरकार को निशाने पर लिया। कहा कि सड़क पर ईद की नमाज नहीं रोक सकते तो थानों, पुलिस लाइन में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाने पर रोक लगाने का हक नहीं है। यदुवंशी कहलाने वालों ने थानों पर पुलिस लाइन में जन्माष्टमी के आयोजनों पर रोक लगा दी थी।

मुख्यमंत्री केजीएमयू के साईंटिफिक कन्वेंशन सेंटर में लखनऊ जनसंचार एवं पत्रकारिता संस्थान व प्रेरणा जनसंचार नोएडा की ओर से दूरस्थ शिक्षा पर प्रबोधन व केशव संवाद पत्रिका के विशेषांक अंत्योदय की ओर के लोकार्पण कार्यक्रम में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि अंत्योदय के लिए पंडित दीन दयाल उपाध्याय ने पांच दशक पहले जिन मूल्यों व मुद्दों को सामने रखा, देश व प्रदेश सरकार उनका अनुसरण करते हुए मजबूती से आगे बढ़ रही है। अंत्योदय देश, दुनिया की चुनौतियों से जुड़ा ऐसा मुद्दा है जो हर देश, काल और परिस्थिति में शाश्वत है।

पंडित दीनदयाल ने उस समय अंत्योदय और एकात्म मानववाद का विचार दिया जब साम्यवाद, समाजवाद और पूंजीवाद के त्रिशंकु में बुद्धिजीवी झूलते दिख रहे थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जन-धन योजना में अंतिम पायदान पर खड़े लोगों के बैंक खाते इसीलिए खुलवाए क्योंकि उनके पास पंडित दीनदयाल की अंत्योदय की सोच थी।

दीनदयाल कहते थे कि जो प्राचीन है, उसे युगानुकूल बनाओ और जो अर्वाचीन है उसे देश के अनुकूल बनाओ। गरीबों के जन-धन खाते न खुले होते तो प्रधानमंत्री आवास योजना के चेक सीधे उनके खातों में नहीं पहुंचते। उनसे पैसों का लेन-देन होता। हमने प्राचीन व्यवस्था को युगानुकूल बनाया।

कानून के दायर में नमाज, क्रिसमस को नहीं रोक सकते

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाल गंगाधर तिलक ने दो कारण से जाने जाते हैं। उन्होंने गणेश पूजन को सांस्कृतिक उत्सव बनाया और गीता पर टीका लिखी। इससे सामूहिक आयोजन हुए।

सामूहिक ताकत का अहसास हो तो भारत से टकराने की हिम्मत किसी में नहीं है। गणेश उत्सव गावों, शहरों में मनाए जाते हैं किसी को आपत्ति नहीं है। यहां क्रिसमस मनाइये कौन रोक सकता है, नमाज पढ़िये, कानून के दायरे में रहेंगे तो कोई नहीं रोकेगा। टकराव तो कानून का उल्लंघन करने पर होता है।

हिंदू बताते पर कहा जाता है सांप्रदायिक

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोई गर्व से कहे कि हिंदू हैं, तो उसे सांप्रदायिक बताया जाता है। नेपाल में पशुपतिनाथ भगवान के दर्शन करने जाए तो हिंदू बताने पर नेपाल वालों को अच्छा लगता है।

मारीशस, फिजी समेत दुनिया में जहां भी भारत के लोग बसे हैं, वे हिंदू कहलाने पर गौरवान्वित होते हैं। कहा कि हिंदू कोई संप्रदाय, उपासना विधि नहीं है। इसमें शैव, वैष्णव, हर मत, संप्रदाय आता है।

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .