राजयोग द्वारा युवाओं में श्रेष्ठ चरित्र का निर्माण करना मुख्य उददेश्य – छाया दीदी

खंडवा : ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय खंडवा सेवा केन्द्र के माध्यम से आगामी 18 से 25 फरवरी तक विभिन्न प्रकार की गतिविधियों द्वारा सामाजिक एकता को लेकर अनेक प्रकार के आयोजन किए जाएंगे।

समाज सेवा प्रभाग तथा केन्द्र प्रभारी शक्ति दीदी ने पत्रकारवार्ता के दौरान बताया कि महाशिवरात्रि पर्व के पावन अवसर पर दिनांक 18 फरवरी से 25 फरवरी के बीच चार मुख्य कार्यर्क्रमों का आयोजन होने जा रहा है। जिसमें 18 फरवरी को मेरा भारत स्वर्णिम भारत अभियान के तहत प्रदर्शनी बस यात्रा का खंडवा आगमन होगा।

इसका मुख्य लक्ष्य राजयोग द्वारा युवाओं को आध्यात्मिक मूल्यों एवं चरित्र निर्माण के लिए प्रोत्साहित करना, स्वच्छ-स्वस्थ भारत के लिए लोगों की सक्रिय भूमिका को बढावा देना, सकारात्मकता के माध्यम से सकारात्मक परिवर्तन के लिए युवा प्रतिनिधि बनें, उसके लिए युवाओं को प्रेरित करना है।

दिनांक18 फरवरी मंगलवार प्रात:10:30 बजे, जिला कलेक्टर तन्वी सुन्द्रियाल एवं जिला पुलिस अधीक्षक डॉ शिव दयाल द्वारा पूनमचंद गुप्ता कॉलेंज से रथ तथा वाहन रैली का शुभारंभ किया जाएगा।

प्रदर्शनी बस शहर के विभिन्न भागों दो दिन भ्रमण करेगी। इस दौरान शहरवासी जगह-जगह प्रदर्शनी बस यात्रा का स्वागत करेंगे।

वही 21 फरवरी महाशिवरात्रि पर्व के उपलक्ष्य में 12 ज्योर्तिंगलिंग की भव्य झॉकी भाग्योदय भवन आनंद नगर के प्रांगण में सजाई जाएगी। तथा 25 फरवरी को नवचंडी माता मंदिर प्रांगण में जादूगर सम्राट हेरी और उनका रंगीन मायाजाल जिसमें 150 से भी ज्यादा हैरतअंगेज कारनामों की प्रस्तुति दी जाएगी।

भाग्योदय भवन में आयोजित पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए इंदौर रामबाग आश्रम से आई छाया दीदी ने कहा कि आज युवाओं को महात्मा गांधी के इस कथन को जीवन में उतारने की आवश्यकता है कि खुद वह बदलाव बनिए जो आप दुनिया में देखना चाहते हैं। भारतीय संस्कृति के मूलभूत गुणों को उजागर करके देश को विश्व गुरु का ताज पहनने में युवा वर्ग की अहम भूमिका हो सकती है।

साइंस के आधुनिक युग में युवा वर्ग ने वैज्ञानिक उपकरणों का उपयोग कर समय और शक्ति की बचत करते हुए चौगुनी प्रगति की है। मगर आंतरिक विज्ञान (आध्यात्मिकता) के अभाव में युवा पीढ़ी में निराशा, व्यसन, नकारात्मकता एवं दुखों का अंधकार बढ़ता जा रहा है।

राजयोग द्वारा युवाओं में श्रेष्ठ चरित्र का निर्माण करना है। इसमें योग, साफ-सफाई पर फोकस तो है ही, युवाओं से जुड़ी गहरी चिंता भी है। युवाओं में सकारात्मक सोच जाग्रृत करना मकसद है। इस अवसर पर ब्रह्मा कुमारी शक्ति दीदी,रूडमल अग्रवाल,हरिभाई शर्मा,विष्णु शर्मा,सुनील तीर्थानी आदि मौजूद रहे।

12 राज्यों का कर चुका भ्रमण

यह अभियान अब तक 12 राज्यों में 43 हजार किलोमीटर का सफर तय कर चुका है। ब्रह्माकुमारी शक्ति दीदी ने बताया कि राजयोग के अभ्यास, संपूर्ण स्वच्छता और लोगों खासकर युवाओं के बीच सकारात्मक सोच लाने के मुख्य उद्देश्य से निकाले गए प्रदर्शनी बस यात्रा अभियान तीन वर्ष का अभियान है।

ब्रह्माकुमारी महिलाओं द्वारा संचालित विश्व की सबसे बड़ी संस्था है, जिसकी 140 से भी अधिक देशों में शाखाएं हैं। इसके 20 प्रशाखा में एक यूथ विंग द्वारा यह अभियान निकाला गया है। 18 फरवरी को क्षेत्र में प्रदर्शनी बस यात्रा भ्रमण करेगी।

अभियान के दौरान राजयोग की शिक्षा

इस दौरान राजयोग द्वारा युवाओं को आध्यात्मिक मूल्यों एवं चरित्र निर्माण के लिए प्रोत्साहित करने, स्वच्छ व स्वस्थ भारत के लिए लोगों की सक्रिय भूमिका को बढ़ावा देने और सकारात्मक के माध्यम से सकारात्मक परिवर्तन के लिए युवा प्रतिनिधि बनने आदि के लिए युवाओं को प्रेरित किया जाएगा।

जिसमें मुख्य रूप से बेटी पढ़ाओ- बेटी बचाओ, स्वच्छता पर्यावरण, नशा मुक्ति, तनाव मुक्ति,आदि विषयों पर चर्चा कर युवाओं देश सेवा के प्रति जागरूक किया जाएगा।