27.5 C
Indore
Saturday, May 21, 2022

Chandra Grahan: जानिए आज के चंद्रग्रहण के पीछे का विज्ञानं

चंद्रग्रहण (Penumbral Lunar Eclipse) होगा। 21 जून को सूर्यग्रहण भी लग रहा है। उसके बाद 5 जुलाई को फिर से उपच्‍छाया चंद्रग्रहण लगेगा। एक महीने के भीतर तीन ग्रहण आखिर बार 58 साल पहले जुलाई-अगस्‍त में पड़े थे। ये योग अब 2020 में जून-जुलाई में बन रहा है। इस साल कुल छह ग्रहण लगने हैं जिनमें से दो सूर्यग्रहण, बाकी चंद्रग्रहण हैं।

नई दिल्‍ली: इस साल का दूसरा चंद्रग्रहण 5 जून की रात 11.16 बजे से लग रहा है। इसकी अवधि करीब सवा तीन घंटे होगी। इस ग्रहण को एशिया, ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका, साउथ अमेरिका, अटलांटिक में देखा जा सकेगा। यह उपच्‍छाया चंद्रग्रहण (Penumbral Lunar Eclipse) होगा। 21 जून को सूर्यग्रहण भी लग रहा है। उसके बाद 5 जुलाई को फिर से उपच्‍छाया चंद्रग्रहण लगेगा। एक महीने के भीतर तीन ग्रहण आखिर बार 58 साल पहले जुलाई-अगस्‍त में पड़े थे। ये योग अब 2020 में जून-जुलाई में बन रहा है। इस साल कुल छह ग्रहण लगने हैं जिनमें से दो सूर्यग्रहण, बाकी चंद्रग्रहण हैं।

क्‍या होता है उपच्‍छाया चंद्रग्रहण?
ज्‍योतिषियों के मुताबिक, उपच्‍छाया चंद्रग्रहण, छाया की छाया वाला माना जाता है जिसमें चंद्रमा के आकार पर कोई प्रभाव नही पड़ता। इसमें चंद्रमा की चांदनी में धुंधलापन आ जाता है। यानी चांदनी थोड़ी फीकी जरूर होगी मगर उसमें फर्क कर पाना मुश्किल होगा। रंग थोड़ा मटमैला हो सकता है। साइंस के मुताबिक, ऐसा ग्रहण तब लगता है जब सूरज, धरती और चांद एक सीध में नहीं आ पाते। सूरज की रोशन का कुछ हिस्‍सा चांद की सतह तक पहुंचने से धरती रोक लेती है। तब चांद की बाहरी की बाहरी सतह के पूरे हिस्‍से को धरती कवर कर लेती है जिसे उपच्‍छाया (penumbra) कहते हैं। ऐसे चांद को पूर्णिमा के चांद से अलग बता पाना मुश्किल होता है।

उपच्‍छाया चंद्रग्रहण की दो शर्तें
एक उपच्‍छाया चंद्रग्रहण तभी लगता है जब ये दो घटनाएं एक साथ हों।
1. चांद पूर्णिमा की तरफ बढ़ रहा होना चाहिए यानी शुक्‍ल पक्ष चल रहा हो।
2. सूर्य, पृथ्‍वी और चंद्रमा एक सीध में हों मगर उतने नहीं जितने आंशिक चंद्रग्रहण के दौरान होते हैं।

तीन तरह के होते हैं चंद्रग्रहण
उपच्‍छाया के अलावा दो प्रकार के ग्रहण और होते हैं। पूर्ण चंद्रग्रहण जिसमें धरती पूरी तरह से चांद को ढंक देती है। आंशिक चंद्रग्रहण में चांद की सतह का कुछ हिस्‍सा दिखता रहता है। चांद की अपनी कोई रोशनी नहीं है, वह सूरज की रोशनी को ही रात में परावर्तित करता है। इसलिए जब सूरज और चांद के बीच में धरती आती है तो उसकी रोशन चांद तक नहीं पहुंचती और हमें उतना चांद नजर नहीं आता।

Related Articles

खंडवा: सगाई समारोह में भोजन के बाद करीब 300 लोग फूड पॉइजनिंग का शिकार, जिला अस्पताल और निजी हॉस्पिटल में किया एडमिट

खंडवा: खंडवा में एक सगाई समारोह के दौरान भोजन करने से लगभग 300 लोग फूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गए। सभी मरीजों को निजी...

बड़वाह के दिव्यांग युवक के कायल हुए प्रधानमंत्री मोदी, ट्वीट कर कहीं यह बात

मध्य प्रदेश खरगोन जिले की बड़वाह विधानसभा क्षेत्र में रहने वाले दिव्यांग आयुष के दीवाने हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयुष...

सरकार हमारे हिसाब से चलेगी, जिसे दिक्कत उसे बदल दिया जाएगा – CM शिवराज

सीएम ने कहा कि मध्यप्रदेश को लॉ एंड आर्डर के मामले में टॉप पर लाने के लिए काम करना होगा। महिला अपराध, बेटियों के...

जहां हिंदू अल्पसंख्यक होगा, वहां धर्मनिरपेक्षता संकट में होगी – उमा भारती

कांग्रेस के पूर्व मंत्री यादवेंद्र सिंह बुंदेला ने कहा है कि बीजेपी ने उन्हें दरकिनार कर दिया है। शराब जैसे मुद्दे को लेकर उनकी...

MP : मुसलमानों की हत्याओं पर भी फिल्म बनाएं, वे कीड़े नहीं इंसान है – IAS नियाज खान

द कश्मीर फाइल्स निर्माता-निर्देशक विवेक अग्निहोत्री का मध्य प्रदेश के प्रमुख शहर भोपाल- ग्वालियर के साथ उत्तर प्रदेश से भी खासा नाता है। विवेक...

MP : देश में फैलाया जा रहा है सांस्कृतिक आतंकवाद – शिक्षा मंत्री

सारंग ने सवाल उठाया कि हमारे तीज और त्यौहारों पर ही इस तरह की बात क्यों सामने आती है? सारंग ने आरोप लगाया कि...

भाजपा सांसद का बड़ा बयान – जिसे कश्मीर फाइल्स से नाराजगी वो कहीं और चले जाए

खंडवा : कश्मीरी पंडितो के दर्द को बयान करती फिल्म कश्मीर फाइल्स को लेकर सड़क से संसद तक बहस छिड़ी हुई हैं। ऐसे में...

पीएम मोदी ने दी पंजाब सीएम भगवंत मान को बधाई, कहा पंजाब के विकास के लिए साथ मिलकर काम करेंगे

नई दिल्ली:  पंजाब के नए सीएम भगवंत मान (CM Bhagwant Mann Oath) ने शहीद भगत सिंह के पैतृक गांव खटखड़कलां में मुख्यमंत्री पद की...

Bhagwant Mann Oath: भगत सिंह के गांव में भगवंत मान ने ली सीएम पद की शपथ

चंडीगढ़ : पंजाब और आम आदमी पार्टी के लिए 16 मार्च 2022, बुधवार का दिन बहुत अहम है। विधानसभा चुनावों में ऐतिहासिक जीत दर्ज...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
126,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

खंडवा: सगाई समारोह में भोजन के बाद करीब 300 लोग फूड पॉइजनिंग का शिकार, जिला अस्पताल और निजी हॉस्पिटल में किया एडमिट

खंडवा: खंडवा में एक सगाई समारोह के दौरान भोजन करने से लगभग 300 लोग फूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गए। सभी मरीजों को निजी...

बड़वाह के दिव्यांग युवक के कायल हुए प्रधानमंत्री मोदी, ट्वीट कर कहीं यह बात

मध्य प्रदेश खरगोन जिले की बड़वाह विधानसभा क्षेत्र में रहने वाले दिव्यांग आयुष के दीवाने हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयुष...

सरकार हमारे हिसाब से चलेगी, जिसे दिक्कत उसे बदल दिया जाएगा – CM शिवराज

सीएम ने कहा कि मध्यप्रदेश को लॉ एंड आर्डर के मामले में टॉप पर लाने के लिए काम करना होगा। महिला अपराध, बेटियों के...

जहां हिंदू अल्पसंख्यक होगा, वहां धर्मनिरपेक्षता संकट में होगी – उमा भारती

कांग्रेस के पूर्व मंत्री यादवेंद्र सिंह बुंदेला ने कहा है कि बीजेपी ने उन्हें दरकिनार कर दिया है। शराब जैसे मुद्दे को लेकर उनकी...

MP : मुसलमानों की हत्याओं पर भी फिल्म बनाएं, वे कीड़े नहीं इंसान है – IAS नियाज खान

द कश्मीर फाइल्स निर्माता-निर्देशक विवेक अग्निहोत्री का मध्य प्रदेश के प्रमुख शहर भोपाल- ग्वालियर के साथ उत्तर प्रदेश से भी खासा नाता है। विवेक...