26.1 C
Indore
Saturday, August 20, 2022

वेब सीरीज और सीरियल फैला रहे अश्लीलता, इन पर भी हो सेंसर – CM नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने पत्र में प्रधानमंत्री मोदी से आग्रह किया है कि इस तरह की अनुचित सामग्री की असीमित उपलब्धता उचित नहीं है। खासकर महिलाओं और बच्चों के साथ होने वाले अपराध को देखते हुए इस पर नियंत्रण लगाना आवश्यक है।

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पॉर्न साइट के जरिए अश्लीलता फैलाने को लेकर एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है।

सीएम नीतीश ने देश में महिलाओं और बच्चों के साथ होने वाले अपराधों का जिक्र करते हुए पीएम मोदी से आग्रह किया है कि टीवी पर प्रसारित होने वाले सीरियल और लाइव स्ट्रीमिंग सर्विस को भी सेंसर के दायरे में लाया जाए।

मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में कहा है कि वर्तमान में कई सेवा प्रदाता अपनी स्ट्रीमिंग सर्विसेज के जरिए उपभोक्ताओं को ऐसी फिल्में, कार्यक्रम या धारावाहिक दिखा रहे हैं, जिनसे अश्लीलता को बढ़ावा मिलता है। इंटरनेट के जरिए ये फिल्में या कार्यक्रम लोगों को सीधे उपलब्ध होते हैं। इन पर न तो सेंसरशिप लागू होती है और न ही विज्ञापन आते हैं। इसलिए लोगों के बीच ये कार्यक्रम काफी पॉपुलर होते जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पीएम मोदी को भेजे अपने पत्र में सालभर पहले इस बारे में एक और पत्र लिखने का भी जिक्र किया है।

सीएम ने इस पत्र में कहा है कि बिना सेंसर के लाइव स्ट्रीमिंग सर्विस की पहुंच के कारण बहुत से लोग अश्लील, हिंसक और अनुचित कंटेंट देख रहे हैं। इन कार्यक्रमों को देखने वाले बहुत सारे लोगों के मस्तिष्क को इस तरह की सामग्री गंभीर रूप से दुष्प्रभावित करती है, जिससे सामाजिक समस्याएं पैदा हो रही हैं। खासकर महिलाओं और बच्चों के प्रति अपराधों में बढ़ोतरी के पीछे भी ऐसे कार्यक्रम हैं।

मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में प्रधानमंत्री मोदी से आग्रह किया है कि इस तरह की अनुचित सामग्री की असीमित उपलब्धता उचित नहीं है। खासकर महिलाओं और बच्चों के साथ होने वाले अपराध को देखते हुए इस पर नियंत्रण लगाना आवश्यक है।

सीएम नीतीश कुमार ने वेब सीरीज, लाइव-स्ट्रीमिंग और टीवी सीरियलों के जरिए अश्लीलता के प्रसार पर चिंता जाहिर करते हुए इन कार्यक्रमों को भी सेंसर बोर्ड के दायरे में लाने का आग्रह किया है।

साथ ही इस बाबत बनाए गए कानून में भी संशोधन करने की मांग की है। सीएम ने पत्र में कहा है कि सिनेमेटोग्राफ एक्ट के तहत फिल्मों के सार्वजनिक प्रदर्शन के लिए सेंसर बोर्ड का प्रावधान है, लेकिन इसमें पब्लिक एक्जीबिशन को परिभाषित नहीं किया गया है।

इस वजह से यह स्पष्ट नहीं हो पाता है कि सर्टिफिकेट की जरूरत सिनेमाहॉल में दिखाए जाने के लिए है या घर में दिखाए जाने वाले कार्यक्रमों को भी सेंसर करने की जरूरत है। इस कानून की अस्पष्टता के कारण लाइव स्ट्रीमिंग सर्विसेज के जरिए अश्लील कंटेंट दिखाए जा रहे हैं, जिससे समाज में अपराध बढ़ रहा है।

मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी से अनुरोध किया है कि इस गंभीर विषय पर तत्काल विचार करते हुए इन कार्यक्रमों को भी सेंसर बोर्ड के दायरे में लाने पर विचार किया जाए।

Related Articles

पुलिस के व्हाट्सएप पर आया धमकी भरा मैसेज, मुंबई उड़ाने की पूरी तैयारी है…

मुंबई: मुंबई को एक बार फिर से दहलाने की साजिश रची जा रही है। इस संबंध में मुंबई पुलिस के व्हाट्सएप पर एक धमकी...

मधयपदेश में गाय पर राजनीति लेकिन गोशालाओं पर नहीं है सरकार का ध्यान, संचालकों ने चेताया

खंडवा : मध्यप्रदेश में सरकारें गाय को लेकर सियासत करती रही हैं। चाहें वह भाजपा की शिवराज सरकार हो या कांग्रेस की कमलनाथ सरकार...

दर्द से तड़प रही थी पत्नी, कंधे पर लादकर अस्पताल ले गया पति, वीडियो हुआ वायरल

डिंडौरी : मध्यप्रदेश के डिंडौरी जिले में बीमार पत्नी को कंधे पर लादकर अस्पताल ले जाते लाचार पति का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल...

दो कृष्ण अष्टमी तिथियां क्यों हैं? जानें स्मार्त व वैष्णव जन्माष्टमी में अंतर

कृष्ण जन्माष्टमी भगवान कृष्ण के जन्म का उत्सव मनाने के लिए सबसे शुभ और महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक माना जाता है। यह हिंदुओं...

महिला उत्तेजक कपड़े पहने थी तो नहीं मानी जाएगी यौन उत्पीड़न की शिकायत : केरल हाईकोर्ट

कोझिकोड। केरल की एक अदालत ने यौन उत्पीड़न के एक मामले में लेखक और सामाजिक कार्यकर्ता सिविक चंद्रन को अग्रिम जमानत देते हुए कहा कि...

टीचर ने किया बीए की छात्रा से रेप, परीक्षा दिलाने ले गया था, पीड़िता नदी में कूदी

करौली : राजस्थान में एक बार फिर शर्मसार कर देने वाली वारदात सामने आई है। करौली जिले के हिंडौन सिटी इलाके में 20 साल...

जदयू ने खेला नया दांव, राज्यसभा के उपसभापति पद से इस्तीफा नहीं देंगे हरिवंश

पटना : बिहार में बदली सियासी बयार का असर राज्यसभा तक पहुंच गया है। जदयू के एनडीए से अलग होने के बाद कयास लगाए...

खरगोन में मॉब लॉन्चिंग का वीडियो वायरल, अंडरवियर उतार के देखा युवक धर्म विशेष का तो नहीं

खरगोन: मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के औद्योगिक क्षेत्र में निमरानी में मॉब लॉन्चिंग का मामला सामने आया है। चार दिन पूर्व एक फैक्ट्री के...

संजय राउत की पत्नी पहुंचीं ED दफ्तर, आमने-सामने बैठाकर हो सकती है पूछताछ

मुंबई : पात्रा चॉल घोटाले में आरोपों का सामना कर रहे शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के दफ्तर...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
127,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

पुलिस के व्हाट्सएप पर आया धमकी भरा मैसेज, मुंबई उड़ाने की पूरी तैयारी है…

मुंबई: मुंबई को एक बार फिर से दहलाने की साजिश रची जा रही है। इस संबंध में मुंबई पुलिस के व्हाट्सएप पर एक धमकी...

मधयपदेश में गाय पर राजनीति लेकिन गोशालाओं पर नहीं है सरकार का ध्यान, संचालकों ने चेताया

खंडवा : मध्यप्रदेश में सरकारें गाय को लेकर सियासत करती रही हैं। चाहें वह भाजपा की शिवराज सरकार हो या कांग्रेस की कमलनाथ सरकार...

दर्द से तड़प रही थी पत्नी, कंधे पर लादकर अस्पताल ले गया पति, वीडियो हुआ वायरल

डिंडौरी : मध्यप्रदेश के डिंडौरी जिले में बीमार पत्नी को कंधे पर लादकर अस्पताल ले जाते लाचार पति का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल...

दो कृष्ण अष्टमी तिथियां क्यों हैं? जानें स्मार्त व वैष्णव जन्माष्टमी में अंतर

कृष्ण जन्माष्टमी भगवान कृष्ण के जन्म का उत्सव मनाने के लिए सबसे शुभ और महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक माना जाता है। यह हिंदुओं...

महिला उत्तेजक कपड़े पहने थी तो नहीं मानी जाएगी यौन उत्पीड़न की शिकायत : केरल हाईकोर्ट

कोझिकोड। केरल की एक अदालत ने यौन उत्पीड़न के एक मामले में लेखक और सामाजिक कार्यकर्ता सिविक चंद्रन को अग्रिम जमानत देते हुए कहा कि...