आर्थिक तंगी व कर्ज से परेशान पति ने पत्नी व तीन बच्चों की हत्या कर किया सुसाइड

नगर कोतवाली क्षेत्र के सफेदाबाद गांव का है। विवेक शुक्ला अपनी पत्नी व तीन बच्चों के साथ यहीं रहते थे। कई दिनों से उसके घर से कोई आहट न मिलने पर दूसरे मकान में  अलग रहने वाली विवेक शुक्ला की मां ने छत के आंगन से झांक कर देखा। मां बेटे के शव को फंदे से लटकता देखकर पैरों तले जमीन खिसक गई और शोर मचाया।

Demo-Pic

बाराबंकी: आर्थिक तंगी व कर्ज के बोझ तले दबे गृह स्वामी ने अपनी पत्नी  व तीन बच्चों की हत्या कर खुद फांसी लगाकर जान दे दी। शुक्रवार की सुबह घर के अंदर 5 शव मिलने की सूचना पर गांव में हड़कंप मच गया।

सनसनीखेज वारदात की सूचना पाकर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक समेत आला अधिकारी गांव पहुंचे। मामले की जांच के लिए फॉरेंसिक टीम व डाग स्क्वायड जांच में लगाई गई।

मामला नगर कोतवाली क्षेत्र के सफेदाबाद गांव का है। विवेक शुक्ला अपनी पत्नी व तीन बच्चों के साथ यहीं रहते थे। कई दिनों से उसके घर से कोई आहट न मिलने पर दूसरे मकान में  अलग रहने वाली विवेक शुक्ला की मां ने छत के आंगन से झांक कर देखा। मां बेटे के शव को फंदे से लटकता देखकर पैरों तले जमीन खिसक गई और शोर मचाया।

मां को रोता बिलखता देख छोटा बेटा मोहित घर के अंदर गया तो वहां भाई विवेक, उसकी पत्नी अनामिका शुक्ला, उनकी बेटी कोयम व कोयना तथा बेटे बबलू का शव देखकर दंग रह गया। इसकी सूचना मोहित ने पुलिस को दी।

जानकारी पर जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह व पुलिस अधीक्षक डॉ. अरविंद चतुर्वेदी मौके पर पहुंचे। वारदात से गांव में सनसनी फैल गई। आनन-फानन में फोरेंसिक टीम व डॉग स्क्वायड को बुलाया गया।

सीओ सुशील कुमार सिंह व पंकज कुमार सिंह ने पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। एएसपी आर एस गौतम ने बताया कि मौके पर अंग्रेजी में लिखा हुआ सुसाइड नोट मिला है।

विवेक शुक्ला ने आर्थिक तंगी व कर्ज के बोझ तले दबे होने के चलते पत्नी व तीन बच्चों की हत्या कर खुद फांसी लगाकर जान दे दी। मामले की जांच की जा रही है व शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।