36.7 C
Indore
Sunday, May 22, 2022

फेसबुक में बहता पानी और बंटता चावल

Social mediaनई दिल्ली [ TNN ] आइस बकट हो या राइस बकट. सोशल मीडिया की दुनिया में इन दिनों दान की होड़ लगी हुई है. लेकिन क्या फंड जुटाने और दान करने की इन कवायदों का वास्तविक समाज की सच्चाइयों से कोई रिश्ता बन पाता है?

बर्फीले पानी से भरी बाल्टी अपने ऊपर उड़ेलने की यह चुनौती सोशल मीडिया खासकर फेसबुक में इसी साल अमेरिका से सामने आई है. स्नायु-तंत्र की एक गंभीर बीमारी (एएलएस) के बारे में जागरूकता और उसके इलाज से जुड़े शोध कार्यों में आर्थिक मदद के लिए संबंधित संगठनों ने इसका खूब प्रचार किया है और अपने फेसबुकी अभियानों में कई नामीगिरामी लोगों को जोड़ा है. हाल के दिनों में अमेरिका से लेकर भारत तक कई नामी हस्तियां एक नहीं कई कई बाल्टी पानी से सराबोर होकर अपना योगदान कर चुकी हैं. बताते हैं कि संगठनों के पास दान का काफी पैसा जमा होता जा रहा है. जो पानी बहा उसका कोई हिसाब नहीं है.

इस तरह पूरी मुहिम पर पानी फेरने का काम किया है इसी के अति उत्साह ने. सदाशयता के साथ शुरू हुई आइस बकट मुहिम अब प्रसिद्ध लोगों की अपनी कुछ देर की नुमायश, कुछ देर की वीरता, कुछ देर का पब्लिक रिलेशन इवेंट बन कर रह गया है. पानी उड़ेलो, जयजयकार कराओ, दस या सौ डॉलर दो, चार और लोगों को नॉमीनेट करो और भलाई की मीठी गुदगुदी के साथ घर जाकर सो जाओ. बेशक सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म व्यर्थ नहीं हैं. वहां ऐसा नहीं है कि जेनुइन सरोकारी काम नहीं किये जा सकते हैं. उसका बेशक एक जनकेंद्रित इस्तेमाल हो सकता है. वो कोई मसालेदार सिनेमा नहीं है कि वहां कुछ देर अंधेरे में बैठेंगे, अपने कष्ट भूल जाएंगें. सोशल मीडिया को कुछ लोग ऐसा ही बने रहना देना चाहते हैं. वे चाहते हैं कि ये बस मस्ती के नाम रहे, यहां बाकी मुश्किलें न लाई जाएं.

लेकिन आप ही बताइये, क्या आज के दौर में यह संभव है कि मुसीबतों को बोरे में बंद कर हम तफरीह करने निकल जाएं. हमें उनसे लड़ना भी तो सीखना ही होगा, वरना तो उनका घेरा बढ़ता जाएगा, जो कि दिखता ही है. इसीलिए आइस बकट जैसे चौलेंज ’’हैशटैग एक्टीविज्म’’ कहे जाते हैं. ये एक किस्म का ’’क्लिकटीविज्म’’ है. और तो और बताते हैं कि ब्रिटेन में एएलएस बीमारी से जुड़े संगठनों के बीच दान की रकम को लेकर वर्चुअल वॉर छिड़ी है.

भारत में आइस बकट का एक निराला तोड़ निकाला गया है. पानी की जगह चावल की बाल्टी आगे कर दी गई है. इसे भरिए, नहीं भर सकते तो कुछ दान दीजिए. इधर भारत मे यह चौलेंज फेसबुक पर लोकप्रिय हो चला है और चावल की बाल्टियां कुछ जरूरतमंदो को मिल पाई हैं लेकिन अब इसमें कुछ एनजीओ भी कूद रहे हैं. उनके जरिए चावल गरीबों को मिलेगा.

एक नजर में लगता है कितना सही है सब कुछ. कितने उदार और दानदाता हैं लोग. लेकिन जरा रुककर देखेंगे कि कहीं कुछ नहीं बदलता है. ढाक के वही तीन पात हैं. सोशल मीडिया की तस्वीरों में चावल के चमकते दानों से भरी बाल्टियां आ जा रही हैं. लेकिन यह एक्सरसाइज लोकप्रियता के शिखर पर जाकर जब थम जाएगी तो भूखे पेटों तक चावल कौन और कैसे पहुंचाएगा.

देखने वाली बात यह भी है कि क्या इससे हम देश और जनता की हिफाजत का बीड़ा उठाने की शपथ खाने वाली सरकारों को और सुस्त नहीं कर देते? उनका अनाज तो गोदामों में सड़ जाता है, भूखे यूं ही मारे जाते हैं, अकाल सूखा आते-जाते हैं. खेत में अपने उगाए अन्न को लेकर एक किसान निकलता है तो एक दुष्चक्र उस पर मंडराना शुरू कर देता है जो गोदाम, साहूकार, बिचौलियों, थोक, फुटकर, कॉरपोरेट, सरकार न जाने कहां से कहां तक घिरा ही रहता है. क्या सोशल मीडिया की नई रोचकताएं या फेसबुक की ये भावुकताएं इस दुष्चक्र को तोड़ने में मदद कर पाती हैं?

दान करना बुरा नहीं है लेकिन यह भी देखना चाहिए कि ऐसा कर हम किसी के आत्मसम्मान को सुला तो नहीं रहे हैं. ये क्षणिक दयाएं क्या उसका जीवनभर का गुजारा कर देंगी? तो क्यों न ऐसा अभियान, ऐसा चौलेंज, ऐसी लड़ाई छेड़ी जाए कि वंचित का हक उसे वापस मिल सके. वो खुद पर दया न करे. उसी की कुठार से अन्न निकालकर सोशल मीडिया में उसी अन्न को एक बाल्टी में भर कर उसे सौंप देना, यह बात गले नहीं उतरती.

Related Articles

खंडवा: सगाई समारोह में भोजन के बाद करीब 300 लोग फूड पॉइजनिंग का शिकार, जिला अस्पताल और निजी हॉस्पिटल में किया एडमिट

खंडवा: खंडवा में एक सगाई समारोह के दौरान भोजन करने से लगभग 300 लोग फूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गए। सभी मरीजों को निजी...

बड़वाह के दिव्यांग युवक के कायल हुए प्रधानमंत्री मोदी, ट्वीट कर कहीं यह बात

मध्य प्रदेश खरगोन जिले की बड़वाह विधानसभा क्षेत्र में रहने वाले दिव्यांग आयुष के दीवाने हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयुष...

सरकार हमारे हिसाब से चलेगी, जिसे दिक्कत उसे बदल दिया जाएगा – CM शिवराज

सीएम ने कहा कि मध्यप्रदेश को लॉ एंड आर्डर के मामले में टॉप पर लाने के लिए काम करना होगा। महिला अपराध, बेटियों के...

जहां हिंदू अल्पसंख्यक होगा, वहां धर्मनिरपेक्षता संकट में होगी – उमा भारती

कांग्रेस के पूर्व मंत्री यादवेंद्र सिंह बुंदेला ने कहा है कि बीजेपी ने उन्हें दरकिनार कर दिया है। शराब जैसे मुद्दे को लेकर उनकी...

MP : मुसलमानों की हत्याओं पर भी फिल्म बनाएं, वे कीड़े नहीं इंसान है – IAS नियाज खान

द कश्मीर फाइल्स निर्माता-निर्देशक विवेक अग्निहोत्री का मध्य प्रदेश के प्रमुख शहर भोपाल- ग्वालियर के साथ उत्तर प्रदेश से भी खासा नाता है। विवेक...

MP : देश में फैलाया जा रहा है सांस्कृतिक आतंकवाद – शिक्षा मंत्री

सारंग ने सवाल उठाया कि हमारे तीज और त्यौहारों पर ही इस तरह की बात क्यों सामने आती है? सारंग ने आरोप लगाया कि...

भाजपा सांसद का बड़ा बयान – जिसे कश्मीर फाइल्स से नाराजगी वो कहीं और चले जाए

खंडवा : कश्मीरी पंडितो के दर्द को बयान करती फिल्म कश्मीर फाइल्स को लेकर सड़क से संसद तक बहस छिड़ी हुई हैं। ऐसे में...

पीएम मोदी ने दी पंजाब सीएम भगवंत मान को बधाई, कहा पंजाब के विकास के लिए साथ मिलकर काम करेंगे

नई दिल्ली:  पंजाब के नए सीएम भगवंत मान (CM Bhagwant Mann Oath) ने शहीद भगत सिंह के पैतृक गांव खटखड़कलां में मुख्यमंत्री पद की...

Bhagwant Mann Oath: भगत सिंह के गांव में भगवंत मान ने ली सीएम पद की शपथ

चंडीगढ़ : पंजाब और आम आदमी पार्टी के लिए 16 मार्च 2022, बुधवार का दिन बहुत अहम है। विधानसभा चुनावों में ऐतिहासिक जीत दर्ज...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
126,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

खंडवा: सगाई समारोह में भोजन के बाद करीब 300 लोग फूड पॉइजनिंग का शिकार, जिला अस्पताल और निजी हॉस्पिटल में किया एडमिट

खंडवा: खंडवा में एक सगाई समारोह के दौरान भोजन करने से लगभग 300 लोग फूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गए। सभी मरीजों को निजी...

बड़वाह के दिव्यांग युवक के कायल हुए प्रधानमंत्री मोदी, ट्वीट कर कहीं यह बात

मध्य प्रदेश खरगोन जिले की बड़वाह विधानसभा क्षेत्र में रहने वाले दिव्यांग आयुष के दीवाने हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयुष...

सरकार हमारे हिसाब से चलेगी, जिसे दिक्कत उसे बदल दिया जाएगा – CM शिवराज

सीएम ने कहा कि मध्यप्रदेश को लॉ एंड आर्डर के मामले में टॉप पर लाने के लिए काम करना होगा। महिला अपराध, बेटियों के...

जहां हिंदू अल्पसंख्यक होगा, वहां धर्मनिरपेक्षता संकट में होगी – उमा भारती

कांग्रेस के पूर्व मंत्री यादवेंद्र सिंह बुंदेला ने कहा है कि बीजेपी ने उन्हें दरकिनार कर दिया है। शराब जैसे मुद्दे को लेकर उनकी...

MP : मुसलमानों की हत्याओं पर भी फिल्म बनाएं, वे कीड़े नहीं इंसान है – IAS नियाज खान

द कश्मीर फाइल्स निर्माता-निर्देशक विवेक अग्निहोत्री का मध्य प्रदेश के प्रमुख शहर भोपाल- ग्वालियर के साथ उत्तर प्रदेश से भी खासा नाता है। विवेक...