22.5 C
Indore
Wednesday, September 29, 2021

कृषि कानूनों में काला क्‍या हैं, कांग्रेस ही कर सकती है खून से खेती – कृषि मंत्री

कृषि मंत्री ने कहा, “केंद्र सरकार का ऐक्‍ट टैक्‍स को खत्‍म करता है जबकि राज्‍य सरकार का ऐक्‍ट टैक्‍स देने पर बाध्‍य करता है। जो टैक्‍स ले रहा है, बढ़ा रहा है आंदोलन उसके खिलाफ होना चाहिए या जो टैक्‍स फ्री कर रहा है, उसके खिलाफ होना चाहिए? अब देश में उलटी गंगा बह रही है।”

नई दिल्‍ली : केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शुक्रवार को राज्‍यसभा में राष्‍ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा में हिस्‍सा लिया। सदन में किसान आंदोलन को लेकर भी साथ-साथ चर्चा चल रही थी।

तोमर ने नए कृषि कानूनों पर मचे विवाद का जिक्र करते हुए कुछ ऐसा कहा कि विपक्षी सदस्‍य भी खिलखिला उठे । दरअसल तोमर ने कहा, “तीन कृषि कानूनों का मुद्दा इस समय ज्‍वलंत हैं। मैं विपक्ष के सदस्‍यों को धन्‍यवाद दूंगा कि उन्‍होंने सरकार को कोसने में कोई कंजूसी नहीं की। कानूनों को काले कानून भी जोर देकर कहा।”

इतना कहना था कि विपक्षी सांसद भी हंस पड़े। कैमरा कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा की तरफ घूमा तो वे भी मुंह दबाकर हंसते नजर आए।

तोमर ने आगे कहा, “मैं दो महीने से किसान यूनियनों से भी यही पूछता रहा कि इन कानूनों में काला क्‍या है, मुझे बताओ तो मैं उसको ठीक करने की कोशिश करूं। मैंने सबकी बात सुनी लेकिन कानून के प्रावधान किसान के प्रतिकूल कैसे हैं, यह बताने की कोशिश किसी ने नहीं की।”

कृषि मंत्री ने कहा, “केंद्र सरकार का ऐक्‍ट टैक्‍स को खत्‍म करता है जबकि राज्‍य सरकार का ऐक्‍ट टैक्‍स देने पर बाध्‍य करता है। जो टैक्‍स ले रहा है, बढ़ा रहा है आंदोलन उसके खिलाफ होना चाहिए या जो टैक्‍स फ्री कर रहा है, उसके खिलाफ होना चाहिए? अब देश में उलटी गंगा बह रही है।”

उन्‍होंने कहा, “भारत सरकार पूरी तरह से किसानों के प्रति समर्पित है। किसान आंदोलन के लिए हम लोगों ने लगातार उनको सम्‍मान देने की कोशिश की है। 12 बार ससम्‍मान बुलाकर बातचीत की है। एक शब्‍द भी हमने उनके बारे में इधर-उधर नहीं बोला। संवेदनशीलता के साथ विचार किया है। लेकिन हमने ये जरूर कहा है कि आप प्रावधान में कहां गलती है, हमारा ध्‍यान आकर्षित करिए। हमने उनकी भावना के अंतर्गत जिन बिंदुओं को चिन्हित किया जा सकता है, उनको भी चिन्हित करके बताया।”

तोमर ने कहा, “हमने एक के बाद एक उनको प्रस्‍ताव देने का भी प्रयत्‍न किया। लेकिन मैंने साथ में यह भी कहा कि अगर भारत सरकार किसी भी संशोधन के लिए तैयार है, इसके मायने यह नहीं लगाना चाहिए कि किसान कानून में कोई गलती है। लेकिन किसान आंदोलन पर है। पूरे एक राज्‍य में गलतफहमी का शिकार हैं लोग। किसानों को इस बात के लिए बरगलाया गया है कि ये कानून आपकी जमीन को ले जाएंगे। मैं कहता हूं कि कॉन्‍ट्रैक्‍ट फार्मिंग के ऐक्‍ट में कोई एक प्रावधान बताए। दुनिया जानती है पानी से खेती होती है, खून से खेती सिर्फ कांग्रेस ही कर सकती है। भारतीय जनता पार्टी खून से खेती नहीं कर सकती।”

Related Articles

पंजाब कांग्रेस: सिद्धू ने प्रदेश अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, लिखा- पंजाब के भविष्य से समझौता नहीं करूंगा

चंडीगढ़ : पंजाब कांग्रेस के घमासान के बीच मंगलवार को पार्टी प्रधान नवजोत सिद्धू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। कुछ दिन...

MP: भ्रष्टाचार पर बसपा विधायक ने दिया ग्रामीणों को ज्ञान, ‘आटे में नमक बराबर रिश्वत तो चलती है’

भोपाल : देश में भ्रष्टाचार के खिलाफ जहां लोग मुहिम चला रहे हैं वहीं कुछ ऐसे नेता हैं जो खुलेआम इसे बढ़ावा दे रहे हैं।...

दक्षिण कोरिया में कुत्‍ते का मांस खाने पर लगेगा बैन, राष्‍ट्रपति बोले, ‘बंद करो परंपरा’

सियोल: दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन देश में कुत्ते के मांस पर प्रतिबंध लगाने का प्लान बना रहे हैं। मून जे-इन खुद कुत्तों...

सर्वे में खुलासा: तार-तार हुई मानवता, कोविड की दूसरी लहर के दौरान आम आदमी से जमकर हुई ‘लूट-खसोट’, 

नई दिल्लीः कोविड की दूसरी लहर में दवा दुकानदारों से लेकर एंबुलेंस संचालकों और प्राइवेट लैब वालों से लेकर मेडिकल उपकरण बेचने वालों तक...

उपचुनाव का एलान: 3 लोकसभा, 30 विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को मतदान, 2 नवंबर को मतगणना

नई दिल्लीः देश के अंदर तीन संसदीय व 30 विधानसभा क्षेत्रों में होने वाले उपचुनाव के लिए चुनाव आयोग ने अपना कार्यक्रम जारी कर...

गोवा के पूर्व सीएम ने ममता बनर्जी का जमकर किया गुणगान, बोले- सिर्फ ममता ही भाजपा को दे सकती हैं चुनौती

पणजी : कांग्रेस छोड़ने के एलान के साथ ही गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री लुजिन्हो फलेरियो ने ममता बनर्जी का जमकर गुणगान किया। फलेरियो ने...

पांच हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ाया पटवारी

खंडवा : मध्यप्रदेश में अफसर से लेकर पटवारी तक रिश्वत लेने के मामले में रोज इज़ाफ़ा हो रहा हैं। तजा मामला खंडवा जिले की...

Tripura: त्रिपुरा के सीएम ने न्यायपालिका को दे डाली चुनौती, अधिकारियों से बोले- कोर्ट की अवमानना से न डरें 

अगरतला: त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब एक बार फिर से विवादों में घिर गए हैं। इस बार उन्होंने न्यायपालिका को ही चुनौती दे...

रिटायरमेंट: मोईन अली ने टेस्ट क्रिकेट से लिया संन्यास, कहा- टीम के साथियों की कमी खलेगी

इंग्लैंड के ऑल राउंडर मोईन अली ने टेस्ट से संन्यास की घोषणा कर दी है। उन्होंने एक बयान में कहा मैं अपनी टीम के...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
122,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

पंजाब कांग्रेस: सिद्धू ने प्रदेश अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, लिखा- पंजाब के भविष्य से समझौता नहीं करूंगा

चंडीगढ़ : पंजाब कांग्रेस के घमासान के बीच मंगलवार को पार्टी प्रधान नवजोत सिद्धू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। कुछ दिन...

MP: भ्रष्टाचार पर बसपा विधायक ने दिया ग्रामीणों को ज्ञान, ‘आटे में नमक बराबर रिश्वत तो चलती है’

भोपाल : देश में भ्रष्टाचार के खिलाफ जहां लोग मुहिम चला रहे हैं वहीं कुछ ऐसे नेता हैं जो खुलेआम इसे बढ़ावा दे रहे हैं।...

दक्षिण कोरिया में कुत्‍ते का मांस खाने पर लगेगा बैन, राष्‍ट्रपति बोले, ‘बंद करो परंपरा’

सियोल: दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन देश में कुत्ते के मांस पर प्रतिबंध लगाने का प्लान बना रहे हैं। मून जे-इन खुद कुत्तों...

सर्वे में खुलासा: तार-तार हुई मानवता, कोविड की दूसरी लहर के दौरान आम आदमी से जमकर हुई ‘लूट-खसोट’, 

नई दिल्लीः कोविड की दूसरी लहर में दवा दुकानदारों से लेकर एंबुलेंस संचालकों और प्राइवेट लैब वालों से लेकर मेडिकल उपकरण बेचने वालों तक...

उपचुनाव का एलान: 3 लोकसभा, 30 विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को मतदान, 2 नवंबर को मतगणना

नई दिल्लीः देश के अंदर तीन संसदीय व 30 विधानसभा क्षेत्रों में होने वाले उपचुनाव के लिए चुनाव आयोग ने अपना कार्यक्रम जारी कर...