29.1 C
Indore
Monday, December 5, 2022

आतंकवाद के बहाने मुसलमानों का उत्पीड़न :रिहाई मंच

Rihai Manchलखनऊ – हलधर मऊ गोण्डा में रिहाई मंच के सम्मेलन को संबोधित करते हुए रिहाई मंच के अध्यक्ष मुहम्मद शुऐब ने कहा कि आतंकवाद के नाम पर बेगुनाह मुस्लिम नौजवानों को फंसाने की साजिशें फिर से शुरु करने की फिराक में सरकारें हैं। इसी साजिश के तहत पिछले दिनों संभल से बेगुनाह नौजवानों को अलकायदा के नाम पर तो लखनऊ समेत देश के दूसरे हिस्सों से आईएस के नाम पर पकड़ा जा रहा है। सबसे शर्मनाक कि सूबे की सपा सरकार में शामिल तथाकथित मुस्लिम चेहरे तक इन मसलों पर चुप्पी साधे हुए हैं। इसलिए जरूरी हो जाता है कि इस चुनौती का सामना करने के लिए इन्साफ  पसंद अवाम संगठित हो। रिहाई मंच इसी अभियान के तहत पूरे सूबे में संगठन निर्माण कर नाइंसाफी के खिलाफ इंसाफ के झंण्डे को बुलंद करने का प्रयास कर रहा है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जुबैर खान ने कहा कि इंसाफ के बिना लोकतंत्र नहीं चल सकता। रिहाई मंच इंसाफ के लिए संघर्ष करते हुए लोकतंत्र को बचाने का काम कर रहा है। यह आंदोलन जितना व्यापक होगा लोकतंत्र उतना ही मजबूत होगा। उन्होंने कहा कि जिस तरह से संघ के मुजफ्फरनगर कार्यालय में शोध छात्र अनिल यादव को प्रताणित किया गया वह साबित करता है आरएसएस अपने घिनौने विचारों को छुपाने के लिए शोध छात्रों को भी प्रताणित करने पर उतारू हो गया है।

रिहाई मंच नेता शकील कुरैशी ने कहा कि इस देश व प्रदेश में आई अब तक की तमाम सरकारों ने मुसलमानों को कुछ दिया तो नहीं उल्टे जिंदा रहने के मौलिक अधिकार को भी उनसे छीनने का प्रयास कर रही हैं। इसीलिए हम देखते हैं कि सरकार चाहे जिसकी हो कभी सांप्रदायिक हिंसा के बहाने तो कभी आतंकवाद के बहाने मुसलमानों का उत्पीड़न जारी है। उन्होंने कहा कि एक षडयंत्र के तहत मुसलमानों की इस हालत के लिए उनकी अशिक्षा और बेरोजगारी को ही जिम्मेदार बताया जा रहा है। जबकि इस समस्या की असल वजह मुसलमानों में सियासी जागरुकता का न होना है। अल्पसंख्यकों में सियासी जागरुकता लाकर लोकतंत्र को मजबूत करने के आंदोलन का नाम रिहाई मंच है।

इंसाफ अभियान के महासचिव और इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र नेता दिनेश चैधरी ने कहा कि इस दौर में सबसे ज्यादा हमला दलितों और मुसलमानों पर है। लेकिन ब्राह्नमणवाद के खिलाफ नारा लगाने वाली पार्टी जहां उसी ब्राह्नमणवादी एजेण्डे को लागू कर रही है तो वहीं साप्रदायिकता से लड़ने के नाम पर मुसलमानों को वोट बटोरकर सत्ता में आई सपा ने अपने कार्यकाल में यूपी में दंगाईयों को खुली छूट देकर सबसे ज्यादा सांप्रदायिक हिंसा की घटनाओं को अंजाम दिलाया। लेकिन जिस तरह दलित छात्र रोहित वेमुला जिसे याकूब मेमन से लेकर मुजफ्फरनगर जैसे सवालों को उठाने की वजह से आत्महत्या करनी पड़ी और उसके बाद जिस तरीके से अंबेडकर विश्वविद्यालय में दलित छात्रों द्वारा मोदी गो बैक का नारा दिया गया, उसने साफ कर दिया है कि वैचारिक आधार पर दोनों की एकजुटता बन रही है।

रिहाई मंच के प्रवक्ता शाहनवाज आलम और राजीव यादव ने कहा कि इंसाफ के सवाल को लेकर जिस तरीके से पूरे सूबे में रिहाई मंच की कमेटियों को गठित करने के लिए अवाम आगे आ रही है वह साबित करता है कि खुफिया एजेंसियों के सांप्रदायिक खेल को मुसलमान अब समझने लगा है और अब वह डरने के बजाए लड़ने के लिए तैयार हो रहा है। उन्होंने अपील की कि भविष्य की  राजनीति  को बदलने की क्षमता रखने वाले मुसलमानों में आए इस बदलाव के बयार को और संगठित करने के लिए लोग अपने यहां रिहाई मंच की कमेटियों को कायम करें। रिहाई मंच ने आज हलधर मऊ गोण्डा में सम्मेलन कर 32 सदस्यीय संयोजन समित गठित की। जिसके संयोजक एडवोकेट रफीउद्दीन खान, सह संयोजक एडवोकेट हादी खान व आसिफ खान आबू बने।

सम्मेलन में आरिफ खान, अरशद खान, अब्दुल हादी, मुहम्मद अरशद खान, वकास खान, जकरिया खान, रशीद अहमद, अकमल खान, समीउद्दीन खान, गुलाम मुहम्मद, मजहरुल खान, फखरुल इस्लाम खान, मोहम्मद अहमद खान, मुशीर खान, कफील खान, हकीक खान, अनवार अहमद खान, एडवोकेट अब्दुल मुत्तलिब खान, एडवोकेट मजहर हुसैन खान, डा. एमएस खान, डा. हबीबुल्लाह, मुहम्मद अबरार, आदम खान, फरीद खान, नोमान खान, अरबाज खान, मो. स्वालेह खान, मो. अकरम खान, खतीबुल्लाह खान, साहिल खान, इंतखाब आलम खान, मो. शुऐब खान, असहाब खान, गुलाम मोहम्मद खान, हकीकुर रहमान खान, खलील, मो. यासर खान, फखरुल हसन खान, महबूब आलम खान, सूफियान खान, नौशाद अली, अबू कलाम खान, मोहसिन खान, हाफिज अलाउद्दीन खान, डा. अबुल आला खान, डा. समीउल्लाह खान, सुल्तान खान, यावर खान, फहद आलम खान, नूर आलम खान आदि मौजूद थे।

Related Articles

हिजाब विवाद में झुकी ईरान सरकार, दशकों पुराने कानून में होगा बदलाव

Iran Hijab Row: ईरान के अटॉर्नी जनरल मोहम्मद जफर मोंटाजेरी के हवाले से बताया कि सरकार ने हिजाब की अनिवार्यता से जुड़े दशकों पुराने...

इंडोनेशिया का सबसे ऊंचा ज्वालामुखी माउंट सेमेरु फटा, लावा की नदियां बहीं

इंडोनेशिया का सबसे ऊंचा ज्वालामुखी माउंट सेमेरु फटा, लावा की नदियां बहीं Indonesia Mount Semeru: माउंट सेमेरू जकार्ता से 800 किमी दूर दक्षिणपूर्व स्थित जावा...

SS Rajamouli: RRR के लिए राजामौली को मिला बेस्ट डायरेक्टर का अवाॅर्ड

SS Rajamouli: RRR के लिए राजामौली को मिला बेस्ट डायरेक्टर का अवाॅर्ड  ऑस्कर की दौड़ में शामिल हुई फिल्मफिल्म निर्देशक एसएस राजामौली ने न्यूयॉर्क फिल्म...

Anushka Sharma: चार साल बाद ‘कला’ फिल्म में दिखीं अनुष्का शर्मा

Anushka Sharma: चार साल बाद 'कला' फिल्म में दिखीं अनुष्का शर्मा  कला फिल्म में बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा को देख फैंस हैरान रह गए हैं।...

IND vs BAN: लिटन दास ने लपका खतरनाक कैच, विराट कोहली भी हो गए हैरान

IND vs BAN: लिटन दास ने लपका खतरनाक कैच, विराट कोहली भी हो गए हैरान IND vs BAN: इस कैच को देखकर विराट कोहली की...

भारत ने जीता हुआ मैच गंवाया, राहुल का कैच छोड़ना पड़ा भारी, बांग्लादेश 1 विकेट से जीता

भारत ने जीता हुआ मैच गंवाया, राहुल का कैच छोड़ना पड़ा भारी, बांग्लादेश 1 विकेट से जीता IND VS BAN 1st ODI: बांग्लादेश ने तीन...

PPF Investment: इस सरकारी स्कीम में करें SIP की तरह निवेश, मैच्योरिटी पर पाएं 41 लाख

PPF Investment: इस सरकारी स्कीम में करें SIP की तरह निवेश, मैच्योरिटी पर पाएं 41 लाख PPF Investment: इस स्कीम में एक वित्तीय साल में...

Aadhaar Card Update: आधार कार्ड में घर बैठे ऑनलाइन बदल सकेंगे जन्मतिथि

Aadhaar Card Update: आधार कार्ड में घर बैठे ऑनलाइन बदल सकेंगे जन्मतिथि Date of Birth Update in Aadhaar: आधार कार्ड में गलत जानकारी भविष्य में...

दूसरे चरण की वोटिंग सोमवार को, PM मोदी अहमदाबाद में डालेंगे वोट

Gujarat 2nd Phase Polling: गुजरात में विधानसभा की कुल 182 सीटे हैं, जिनमें से 93 पर दूसरे चरण में सोमवार को मतदान होगा। पहले...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
130,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

हिजाब विवाद में झुकी ईरान सरकार, दशकों पुराने कानून में होगा बदलाव

Iran Hijab Row: ईरान के अटॉर्नी जनरल मोहम्मद जफर मोंटाजेरी के हवाले से बताया कि सरकार ने हिजाब की अनिवार्यता से जुड़े दशकों पुराने...

इंडोनेशिया का सबसे ऊंचा ज्वालामुखी माउंट सेमेरु फटा, लावा की नदियां बहीं

इंडोनेशिया का सबसे ऊंचा ज्वालामुखी माउंट सेमेरु फटा, लावा की नदियां बहीं Indonesia Mount Semeru: माउंट सेमेरू जकार्ता से 800 किमी दूर दक्षिणपूर्व स्थित जावा...

SS Rajamouli: RRR के लिए राजामौली को मिला बेस्ट डायरेक्टर का अवाॅर्ड

SS Rajamouli: RRR के लिए राजामौली को मिला बेस्ट डायरेक्टर का अवाॅर्ड  ऑस्कर की दौड़ में शामिल हुई फिल्मफिल्म निर्देशक एसएस राजामौली ने न्यूयॉर्क फिल्म...

Anushka Sharma: चार साल बाद ‘कला’ फिल्म में दिखीं अनुष्का शर्मा

Anushka Sharma: चार साल बाद 'कला' फिल्म में दिखीं अनुष्का शर्मा  कला फिल्म में बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा को देख फैंस हैरान रह गए हैं।...

IND vs BAN: लिटन दास ने लपका खतरनाक कैच, विराट कोहली भी हो गए हैरान

IND vs BAN: लिटन दास ने लपका खतरनाक कैच, विराट कोहली भी हो गए हैरान IND vs BAN: इस कैच को देखकर विराट कोहली की...